अगले चुनाव में ब्राह्मण वोटों के लिए होगी तीखी भिड़ंत

उत्तर प्रदेश के अयोध्या में प्रभु श्रीराम की प्रतिमा भी लगाए जाने की घोषणा यूपी सरकार की तरफ से की गई थी। इस बीच समाजवादी पार्टी ने भी 2022 में होने वाले विधानसभा चुनाव से पहले ब्राह्मणों को रिझाने की कवायद में जुट गई है। इसे राजनीति का तकाजा कहें या कुछ और भाजपा के बाद अब “काम बोलता है” का नारा देने वाली समाजवादी पार्टी के नेता अभिषेक मिश्रा ने कहा है कि लखनऊ में भगवान श्री परशुराम की 108 फीट मूर्ति के साथ उनका भव्य मंदिर बनाया जाएगा। यही नहीं साथ मे एक बड़ा पार्क और उसमें एजुकेशनल रिसर्च सेंटर भी बनाया जाएगा। याद रहे कि बसपा सुप्रीमो मायावती पहले ही मोस्टवांटेड मुठभेड़ में मारे जा चुके विकास दुबे की विधवा पत्नी को बसपा का टिकट देने का ऐलान करके ब्राह्मण वोटों को हतियाने के लिए अपना पासा पहले ही फेंक चुकी हैं। प्रदेश में विधानसभा के आगामी चुनावों के लिए तीनों प्रमुख प्रतिद्वंदी सपा, बसपा और भाजपा के बीच ब्राह्मण वोट पाने के लिए मानो कटाजुज्झ अब और तेज होगी।

यूपी सरकार के पूर्व कैबिनेट मंत्री और समाजवादी पार्टी के नेता अभिेषेक मिश्रा ने परशुराम की मूर्ति लगाने का निर्णय लिया है।

कब तैयार होगा प्रोजेक्ट

अभिषेक मिश्रा ने यंग भारत से बातचीत में बताया कि यह तय हो गया है कि मंदिर और मूर्ति कौन बनाएगा। मूर्ति कहां लगेगी और एजुकेशनल रिसर्च सेंटर में क्या होगा। लेकिन, अभी जब तक प्रोजेक्ट को हम फाइनल रूप न दे दे तब तक कुछ नहीं बता सकते। भगवान परशुराम चेतना पीठ के अंतर्गत यह मंदिर बनवाया जाएगा।

मंदिर में होगी भगवान श्रीपरशुराम की पूजा

अभिषेक मिश्रा ने बताया- मैं और लंभुआ के पूर्व विधायक संतोष पांडेय ने तय किया है कि 108 फीट की मूर्ति लगाएंगे। दुनिया मे इतनी बड़ी मूर्ति अभी कहीं नही है। उन्होंने कहा यह सारा काम हम अपने पास से और जनता से चंदा लेकर करेंगे। उन्होंने कहा मंदिर में भगवान की पूजा भी की जाएगी।

क्या समाजवादी पार्टी की भी सहमति है?

इस सवाल के जवाब में अभिषेक मिश्रा कहते हैं कि हमने जनेश्वर मिश्रा की मूर्ति लगाई साथ ही बड़ा सा पार्क भी बनाया है जोकि सबके काम आ रहा है। उन्होंने कहा मैं समाजवादी पार्टी से जुड़ा हूं, तो जाहिर है कि उनकी सहमति है। हम मूर्ति बनाएंगे, हम मंदिर बनाएंगे, हम एजुकेशनल रिसर्च सेंटर बनायेगे। जहां किताबें लिखी जाएंगी, उस पर रिसर्च होगी। म्यूजिक तैयार किया जाएगा। कुल मिलाकर गुरुकुल का जो कॉन्सेप्ट है उसे एडॉप्ट करेंगे।

योगी ने सत्ता में आते ही की थी प्रभु श्रीराम की मूर्ति लगवाने की घोषणा

इससे पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 2017 में सत्ता में आते ही अयोध्या में व्यापक स्तर पर दीपावली उत्सव मनाने की शुरुआत की थी। पहले कार्यक्रम में सीएम ने घोषणा की थी कि अयोध्या में सरयू नदी के तट पर 251 मीटर ऊंची भगवान श्रीराम की प्रतिमा लगाई जाएगी, जो विश्व की सबसे ऊंची प्रतिमा होगी।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126