अधेड़ की हत्या करके शव खेत में फेंका, पुलिस कर रही है छानबीन

औरैया: ऊसराहार-भरथना के बीच लिंक रोड पर एक अधेड़ की हत्या करके शव को खेत में फेंक दिया गया। शव मिलने की जानकारी पर पहुंची पुलिस शिनाख्त न होने पर थाने लेकर पहुंची। चार घंटे बाद पड़ोसी गांव के किशोर ने अपने पिता के रूप में शव की शिनाख्त की। वह घर में खाना खाने के बाद लेट गए थे, इसके बाद खेत पर क्यों और कैसे पहुंचे इसकी पुलिस छानबीन कर रही है।
ऊसराहार-भरथना रोड के लिंक रोड नगला जलाल (मंगूपुर) के किनारे स्थित नगला धना के रहने वाले शिशुपाल सिंह के धान के खेत में गांव वाले ने सोमवार की सुबह 9 लुहुलुहान हालत में एक शव पड़ा देखा। सूचना पर पहुंचे प्रभारी निरीक्षक अनिल कुमार व एसआई दिनेश कुमार ने पहुंचकर शव को कब्जे में लिया और शिनाख्त के प्रयास किए। शिनाख्त न होने पर शव को लोडर में रखकर थाने लाया गया। शव मिलने की जानकारी आसपास के गांवों तक पहुंच गई। इस पर घटना स्थल से दो किमी दूर स्थित गांव के रहने वाले बलराम सिंह ने पहुंचकर शव की शिनाख्त अपने बड़े भाई वीरेंद्र सिंह उर्फ हाकिम सिंह भदौरिया(55) के रूप में की। वीरेंद्र सिंह की पत्नी का 2012 में निधन हो गया था। तब से वह अपने छोटे बेटे कक्षा 9 में पढ़ने वाले विष्णु सिंह के साथ ही रहते थे। तीन बेटे दिल्ली में अपने परिवार के साथ रहते हैं। विष्णु ने बताया कि रविवार की देरशाम उसने खाना बनाया था और खाना खाकर दोनों लोग अलग अलग कमरे में लेट गए। सुबह शव मिलने की जानकारी पर वह पहुंचा तब घटना की जानकारी हुई। उसने बताया कि पिता की किसी से रंजिश नहीं थी। फिर किसी ने क्यों हत्या कर दी। बता दें कि शव पर चोटों के कई निशान थे और नाक व मुंह से खून भी निकला था, इससे पीटकर हत्या की संभावना जताई जा रही है। बता दें कि दो महीने पहले वीरेंद्र सिंह ने अपनी दो बीघा जमीन भी बेंची थी। पुलिस सभी बिंदुओं पर छानबीन कर रही है। सबसे बड़ा सवाल पुलिस के सामने ये है कि जब वह घर में सो गए थे तो खेत पर कैसे पहुंचे।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126