अपनी 4 सूत्री मांगों को लेकर डिप्लोमा इंजीनियर लघु सिंचाई विभाग का प्रदेश स्तरीय धरना प्रदर्शन 15 को लखनऊ में

लखनऊ | अपनी 4 सूत्री मांगों को लेकर डिप्लोमा इंजीनियर्स लघु सिंचाई विभाग का प्रांत स्तरीय एक दिवसीय धरना प्रदर्शन 15 नवंबर 021 को लखनऊ के जवाहर भवन परिसर के बाहर होगा। इस संबंध में जानकारी देते हुए प्रांतीय अध्यक्ष इंजीनियर आर पी वर्मा एवं प्रदेश महासचिव इंजीनियर अरुण कुमार ने संयुक्त रूप से बताया कि हम आगामी 15 नवंबर को लखनऊ के जवाहर भवन में जो प्रांत स्तरीय धरना प्रदर्शन करने जा रहे हैं उसमें हमारी प्रमुख चार मांगे हैं कि लघु सिंचाई विभाग में नियमित मुख्य अभियंता विभागाध्यक्षकी नियुक्ति की जाए |क्योंकि इसके बिना विमाग का काम बहुत प्रभावित होता है| मालुम हो कि बीती 1 म ई वर्ष 2020 से मुख्य अभियंता विभागाध्यक्ष की नियुक्ति नहीं हुई है जिसके कारण बुंदेलखंड में पिछले 2 वर्षों से लघु सिंचाई विभाग को ना के बराबर ही लक्ष्य और बजट नहीं दिया गया है गजब की बात यह है कि 2 वर्ष पहले माह मई जून में ही लघु सिंचाई विभाग के पास शासन से लक्ष्य आ जाते थे पिछले वित्तीय वर्ष मे 2020- 21 के लक्ष्य बजट 2माच को दिये गये जबकि वित्तीय वर्ष 2021- 22 के लिए शासन ने ना तो लक्ष्य दिया और ना ही अब तक बजट दिया है। बुंदेलखंड की खेती जमीन में बोरिंग का कार्य माह अप्रैल से जून तक तथा माह सितंबर से नवंबर तक खेत खाली होने तथा किसानों के पास धन की उपलब्धता एवं मशीन के आने जाने के शु गम रास्ता रहता है| किसानों के लिए बोरिंग करवाने का यही उपयुक्त समय होता है| भाजपा सरकार द्वारा समय से बजट तथा लक्ष्य ना देने का कारण विभागाध्यक्ष मुख्य अभियंता की नियुक्ति न होना भी है फलस्वरूप इसका सीधा असर बुंदेलखंड के किसानों पर पड़ा है इतना ही नहीं बुंदेलखंड में सिंचाई एवं पशुओं के पेयजल हेतु चेक डैम व तालाबों का जिला योजना में भाजपा के प्रभारी मंत्रियों द्वारा परिव्यय तो स्वीकृत कर दिया गया लेकिन धना भाव के कारण जमीन पर कार्य नहीं दिखाई दे रहा है इतना तो अवश्य है किसानों की सिंचाई ज्यादातर निजी नलकूप चेकडैम तालाब तथा कूपों के माध्यमन से होती है लेकिन अब तक सरकार ने पूर्णकालिक मुख्य अभियंता विभागाध्यक्ष की ही नियुक्ति नहीं कर पायी है और ना ही बुंदेलखंड में पूर्ण कालिक अधीक्षण अभियंता की ही नियुक्ति की है| जिसके कारण किसान परेशान हैं उधर जल निगम में अभियंता ओऔर स्टाफ को 6-6 महीने से वेतन न मिलने से उनकी पारिवारिक स्थिति विषम हुई है और उन्हें परिवार चलाने में खासी दिक्कत आ रही है। उन्होंने कहा किमुख्य अभियंताअवर अभियंताओ की लंबित ए- सी – पी / स्थायीकरण का निस्तारण शीघ्र से शीघ्र करेउन्होंने बताया कि शासन विभागीय बजट प्रतिवर्ष समय से आवंटित किया जाना चाहिए इसी तरह रेन वाटर हार्वेस्टिंग” कैच द रेन ” के कार्यों के हेतु विभागीय बजट का सीधा आवंटन करवाया जाए| उन्होंने कहा कि इन चार सूत्रीय मांगों को लेकर प्रदेश स्तरीय धरना प्रदर्शन 15 नवंबर को लखनऊ में जवाहर भवन में होने जा रहा है |जिसमें सभी प्रांतीय पदाधिकारियों के अलावा कार्यकारिणी और संघर्ष समिति के सदस्यों के साथ साथ मंडलीय अध्यक्ष महामंत्री तथा सभी जनपदों के जिला अध्यक्ष सचिव और कार्यकारिणी के सदस्य इसमें हिस्सेदारी करेंगे उन्होंने इस आंदोलन को सफल बनाने के लिए सभी से अपील की है।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126