अब तक पटरी पर नही लायी जा सकी सरकारी महकमों की गाडी

उरई(जालौन)। कोविड 19 के चलते लगभग आठ माह बाद भी सरकारी महकमों की गाडी को पटरी पर नही लाया जा सका है जिस तरह से प्रशासन और उससे जुडे महकमें सामान्य हालातों की ओर शनै शनै अग्रसर हो रहे है उसकी रफतार पर अभी भी कोरोना संक्रमण के बढते आकडे अंकुश लगाये है। शिक्षा महकमें का कमोवेश सबसे बुरा हाल है हालाकि जिम्मेदार अधिकारियों की माने तो वह हर संभव प्रयास कर रहे है कि किसी तरह से स्थितियां सामान्य बहाल हो सके हालाकि इस दौरान उन्हें आम जनजीवन की भी सुरक्षा को देखकर चलना पड रहा है।
गौरतलब हो कि मार्च 2020 के मध्य में ही देश और प्रदेश की सरकारें चीन से निकलें कोरोना वायरस के संक्रमण को लेकर गंभीर हो गयी थी जिसका परिणाम यह रहा कि केन्द्र और राज्य की सरकारों को मार्च के बाद कई बार सम्पूर्ण लाक डाउन लगाने के लिये मजबूर होना पडा जिससे आम जनजीवन तो प्रभावित हुआ ही साथ ही सरकारी महकमों की भी गति पर विराम लग गया और कई माह तक ऐसे हालात रहें जिनको देखते हुये संबधित विभागों के कामकाज की व्यवस्था खासी प्रभावित हुयी अब जबकि लगभग आठ माह बाद अनलाक में गाइड लाइन के तहत सरकारी महकमों के संचालन के दिशा निर्देश मिलते ही कामकाज तो शुरू करा दिया गया है बाबजूद इसके उन महकमों की गाडी अब तक पटरी पर नही लायी जा सकी है। शिक्षा स्वास्थ खेलकूद सहित अन्य कुछ विभाग अभी भी धीमी गति में चल रहे है।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126