अलग-अलग धर्मों के युवक-युवती का विवाह, सांप्रदायिक नफरत को बढावा देने के आरोप में दो गिरफ्तार

अलीगढ : उत्तर प्रदेश के अलीगढ़ जिले में अलग-अलग धर्मों के युवक और युवती के विवाह के बाद कथित रूप से सांप्रदायिक नफरत को बढावा देने के आरोप में चार लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर दो लोगों को गिरफ्तार कर लिया गया है. पुलिस के अनुसार आरोपियों में दो को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत में भेजा गया है. जिन लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया गया है, उनमें लड़की की बहन आसिया, फैजान, मोहम्मद नाजिम और और सिराज शामिल हैं.

इन लोगों ने रविवार को प्रेस कांफ्रेस कर पूर्व मेयर पर दबाव बनाकर विवाह कराने का आरोप लगाया था. लड़की की बहन ने अलीगढ की पूर्व मेयर एवं भाजपा नेता शकुंतला भारती पर आरोप लगाया कि उन्होंने कथित रूप से पुलिस पर दबाव बनाकर उसकी छोटी बहन का जबरन धर्मान्तरण कराया है.

शकुंतला ने हालांकि इस आरोप का खंडन करते हुए सोमवार संवाददाताओं को बताया कि मुस्लिम परिवार से ताल्लुक रखने वाली लड़की बालिग है और उसने एक हिन्दू लडके से अपनी मर्जी के मुताबिक हिन्दू रीति रिवाज से शादी की है. उन्होंने कहा कि वह इस पूरे प्रकरण में तब सामने आयीं, जब लड़की के परिवार वालों की ओर से लड़की को हिन्दू लड़के से शादी करने के लिए धमकाना शुरू कर दिया.

लड़की की बहन ने सात अगस्त को सासनी गेट थाने पर बहन के लापता होने की शिकायत दर्ज करायी थी. लड़की के बारे में 16 अगस्त तक कुछ पता नहीं चला. उसका विवाह होने के बाद ही पूरी बात सामने आयी. पुलिस ने बताया कि प्रेस कांफ्रेंस में लड़की की बहन आसिया ने ऐसी टिप्पणियां कीं, जो शहर में शांति बाधित कर सकती थीं.

पुलिस अधीक्षक नगर अभिषेक कुमार ने संवाददाताओं को बताया कि लड़की बालिग है और उसने मजिस्ट्रेट के समक्ष बयान दिया है कि उसने अपनी मर्जी से विवाह किया है और किसी तरह का कोई दबाव नहीं था. आसिया का आरोप है कि वह अपनी बहन से बात करना चाहती थी लेकिन उसे बात नहीं करने दी गयी.

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126