आगरा की डॉक्टर पर शादी का दबाव नाकामयाब होने पर क्वारंटाइन चल रहे सरकारी डॉक्टर ने कर दी हत्या

आरोपी डॉक्टर विवेक तिवारी।

उरई के सदर चिकित्सालय में तैनात था हत्यारा डॉक्टर

आगरा पुलिस ने उरई आकर पकड़ा हत्यारे को और कबुलवा लिया हत्या का रहस्य

उरई (जालौन)। आगरा में महिला डाक्टर की हत्या में जिला अस्पताल उरई तैनात डा. विवेक तिवारी को आगरा पुलिस की टीम उठाकर अपने साथ ले गयी। पुलिस द्वारा की गयी पूछताछ के दौरान डा. विवेक तिवारी ने अपना जुर्म कबूल कर लिया है।
सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार डा. योगिता गौतम का शव बुधवार सुबह फतेहाबाद हाईवे पर बमरौली कटारा क्षेत्र में मिला था। डा. योगिता के गायब होने पर उसके भाई डॉ. मोहिंदर कुमार गौतम ने उरई में तैनात मेडिकल ऑफिसर डॉ. विवेक तिवारी पर अपहरण का मुकदमा दर्ज कराया था। जिसमें आरोप था कि डा. योगिता गौतम का पहले गला दबाया और फिर चाकू सर पर मारा गया। पुलिस हिरासत में पूंछतांछ के दौरान डॉ. विवेक तिवारी ने स्वीकार किया कि वह जालौन से डॉ. योगिता से मिलने आये थे इस दौरान डॉ. योगिता से उनका झगड़ा भी हुआ तो पहले गला दबाया और फिर चाकू सर पर मारा। डॉ. विवेक ने बताया पुलिस को बताया कि आगरा के सरोजनी नायडू मेडिकल कालेज से एमबीबीएस पास कर चुकी 25 वर्षीया डा. योगिता से उसकी 7 साल से दोस्ती थी। डॉ योगिता जब कार में बैठी तो झगड़ा हुआ तो पहले गला दबाया,जब मरी नही तो फिर चाकू से सिर पर मारा और फिर सुनसान इलाके में फेंककर लकड़ी से ढक दिया। आरोपी डा. विवेक तिवारी ने यह भी पुलिस को बताया कि मंगलवार शाम तक आगरा में ही था। डॉ. योगिता गौतम के भाई की तरफ से केस दर्ज कराने के बाद पुलिस डॉ. विवेक तिवारी की तलाश में जुट गई थी। पुलिस ने विवेक तिवारी जब सख्ती से पूछताछ की तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया। पुलिस की ओर से यह बताया गया है कि उसके पास इस बात के सबूत हैं कि विवेक तिवारी मंगलवार शाम तक आगरा में ही था तथा डा. योगिता के ​भाई ने अपहरण की सूचना पुलिस को दी थी। डा. योगिता के भाई नजफगढ़ दिल्ली के रहने वाले डॉ. मोहिंदर कुमार गौतम ने योगिता के अपहरण की सूचना पुलिस को दी थी। उन्होंने बताया कि उनकी बहन योगीता मुरादाबाद के तीर्थंकर महावीर मेडिकल कॉलेज में 2019 में दाखिला लिया था। उसी दौरान उसकी मुलकात डॉ. विवेक तिवारी से हुई। डॉ. विवेक तिवारी योगिता से एक साल सीनियर था। मोहिंदर कुमार गौतम ने पुलिस को बताया था कि विवेक तिवारी योगिता से शादी करना चाहता था। वह लगातार योगिता पर शादी करने का दबाव बना रहा था पर योगिता उससे कोई वास्ता नहीं रखना चाहती थी।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126