आगरा से हाइजैक बस की 12 घंटे बाद 233 किमी दूर झांसी में लोकेशन मिली

पुलिस का दावा- फाइनेंस कंपनी के कर्मचारी ले गए थे

बस के ड्राइवर और कंडक्टर ने बताया था- बदमाशों ने आगरा से 34 सवारियों से भरी बस को हाइजैक कर लिया

बस गुड़गांव से मध्य प्रदेश के पन्ना जिले के अमानगंज जा रही थी, इसे आगरा के न्यू दक्षिणी बाइपास पर रोका गया था

उत्तर प्रदेश के आगरा जिले से बुधवार रात हाईजैक बस की पुलिस ने 12 घंटे बाद 233 किमी दूर झांसी में लोकेशन ट्रेस की है। सभी 34 यात्रियों के सुरक्षित होने का दावा है। पुलिस का कहना है कि फाइनेंस कंपनी के कर्मचारियों ने बस को कब्जे में लिया था। मंगलवार को बस मालिक की मौत हो गई थी। बस का मालिक ग्वालियर का है। बस पर कल्पना ट्रैवल्स लिखा है। पुलिस परिवार से संपर्क कर रही है।

इससे पहले ड्राइवर और कंडक्टर ने बताया था कि आगरा के दक्षिणी बाइपास पर बदमाशों ने 300-300 रुपए देकर उन्हें रास्ते में उतार दिया था। पुलिस ने बस हाइजैक की सूचना मिलने पर मध्य प्रदेश, राजस्थान और उत्तर प्रदेश की पुलिस को अलर्ट मोड़ पर रखा था।

ग्वालियर के डबरा के रहने वाले कंडक्टर रमेश ने पुलिस को बताया कि वह बस (यूपी 75 एम 3516) में 34 सवारियों को लेकर मंगलवार शाम करीब 5 बजे गुड़गांव से मध्य प्रदेश के पन्ना में अमानगंज के लिए निकला था। रात करीब साढ़े 10 बजे वह आगरा में दक्षिणी बाइपास के पास रायभा टोल प्लाजा के पास पहुंचे। तभी दो कार में सवार 8-9 लोगों ने खुद को फाइनेंसकर्मी बताकर बस को रुकवाया। ड्राइवर को नीचे उतरने के लिए कहा, लेकिन उसने बस को आगे बढ़ा दिया। इसके बाद कार सवार पीछा करने लगे। मलपुरा में न्यू दक्षिणी बाइपास पर कार सवारों ने ओवरटेक करके बस को रुकवा लिया। बस में चार लोग सवार हो गए और खुद चलाने लगे।

बदमाश सैंया से फतेहाबाद होते हुए बस को लखनऊ एक्सप्रेस वे पर ले गए। यहां एक ढाबे पर खाना खाया। कंडक्टर से सवारियों के रुपए वापस कराए। इसके बाद सवारियों समेत बस लेकर चल दिए। ड्राइवर और कंडक्टर को दिल्ली-कानपुर हाईवे पर 300-300 रुपए देकर कुबेरपुर के पास छोड़ दिया। सुबह 4 बजे ड्राइवर और कंडक्टर ने मलपुरा थाने पहुंचकर घटना की जानकारी। फिलहाल,12 घंटे बाद बुधवार सुबह साढ़े 10 बजे बस की लोकेशन झांसी में ट्रेस हुई है। कहा जा रहा है कि बस में सवार यात्रियों को रोडवेज बस स्टैंड लाया जाएगा। यहां से गंतव्य के लिए भेजा गया।

आईजी ए सतीश गणेश ने राजस्थान, मध्य प्रदेश के अधिकारियों को सूचना दी और पुलिस को अलर्ट कर दिया था। पुलिस ने दिल्ली-कानपुर हाइवे और सीसीटीवी फुटेज को खंगाला और लोकेशन ट्रेस की। आशंका जताई जा रही थी कि बस दिल्ली की ओर लौटकर गई। मथुरा पुलिस को भी अलर्ट किया गया था।

एसएसपी बबलू कुमार ने बताया कि बस को किसी बदमाशों ने नहीं, फाइनेंस कंपनी के कर्मियों ने कब्जे में लिया था। कर्मियों ने कहा था कि वे सवारियों को उनके गंतव्य तक छोड़ेंगे। बस मालिक किश्त नहीं चुका पा रहा था। इस मामले में कार्रवाई की जा रही है।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126