इंस्पेक्टर की बेटी ने अपने भाई को मारी गोलियां, रची लूट की कहानी

प्रयागरज: जिले की नैनी कोतवाली के चकरघुनाथ मोहल्ले में मंगलवार की देर रात इंस्पेक्टर के बेटा गोली लगने से घायल गया था. गंभीर रूप से घायल युवक को आनन-फानन में एसआरएन अस्पताल में भर्ती कराया गया था. शहर में घटना को लेकर तब से तरह-तरह की चर्चाएं व्याप्त हैं. मौके पर पहुंची पुलिस से उसकी बहन ने बताया कि बदमाशों ने गोली मारी है. पुलिस को पूरा मामला संदिग्ध लगा. काफी देर तक छानबीन के बाद पता चला कि कोई बदमाश घर में नहीं घुसा था, बल्कि घर के अंदर ही किसी ने घटना को अंजाम दिया गया है. पुलिस ने कड़ाई से बहन से पूछताछ कि पता चला बहन ने ही गोली मारी थी.
पुलिस को मामला लगा संदिग्ध
नैनी के चकरघुनाथ मोहल्ले के रहने वाले सभाजीत सिंह आजमगढ़ जिले में इंस्पेक्टर के पद पर तैनात हैं. घर पर उनकी पत्नी सुभद्रा देवी व इकलौता पुत्र अमरेंद्र सिंह और पुत्री रहती हैं. अमरेंद्र सिंह जीआईसी में कक्षा 11 में पढ़ता है. मंगलवार की रात अमरेंद्र के कमरे से गोली के तड़तड़ाने की आवाज आई. इससे हड़कंप मच गया. मां दौड़ते हुए नीचे पहुंची और शोरगुल सुनकर मोहल्ले के लोग भी पहुंच गए. अमरेंद्र खून से लथपथ अवस्था में पड़ा था. तत्काल उसे एसआरएन अस्पताल में भर्ती कराया गया. उसे तीन गोली लगी थी. सूचना पाकर एसपी और सीओ सहित कोतवाली पुलिस भी मौके पर पहुंच गई. पुलिस को मामला संदिग्ध लगा, नैनी इंस्पेक्टर जितेन कुमार सिंह ने आस-पड़ोस के लोगों से जानकारी हासिल की. वहीं सामने की सीसीटीवी फुटेज देखे गए. इंस्पेक्टर के अनुसार किसी भी बदमाश का आने जाने का कोई सुराग नहीं मिला. पुलिस उसी वक्त मामले की गहनता से छानबीन करने लगी.
घायल की बहन ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की
नैनी पुलिस के अनुसार मामला संदिग्ध होने कारण परिजनों से पूछताछ की गई. परिवार में उस वक्त मां और बहन थी. मां का रो-रो कर बुरा हाल था. पुलिस ने बहन से पूछताछ की. बहन ने बताया कि तीन की संख्या में बदमाश मकान में दाखिल हुए थे और मकान के पीछे वाले कमरे में मौजूद अमरेंद्र को गोली मारकर भाग गए. पुलिस ने मोहल्ले सहित शहर में भी जगह-जगह छानबीन शुरू कर दी, लेकिन बदमाशों का पता नहीं चला. बहन ने पुलिस को गुमराह करने की कोशिश की, लेकिन बातचीत के दौरान ही बहन अपनी बातों में ही उलझने लगी. जिससे पुलिस को शक हो गया कि घटना रात को घर के अंदर ही हुई है. बाहर से कोई बदमाश घर में दाखिल नहीं हुआ है. बहन ने बताया था कि बदमाश गोली मारने के बाद जेवर भी लूटकर ले गए हैं.
कड़ाई से पूछताछ पर कबूला जुर्म
महिला पुलिस ने जब कड़ाई से पूछताछ की, तो पता चला बदमाश ने नहीं बल्कि बहन ने ही अपने सगे भाई अमरेंद्र को गोली मारी है. खोजबीन के दौरान घर में ही घटना में प्रयुक्त पिस्टल बरामद हो गई. जिन जेवरों के लूटे जाने की बात की जा रही थी, वह भी घर के अंदर मिल गए. महिला पुलिस आरोपी बहन को हिरासत में लेकर मामले में पूछताछ कर रही है.
चकरघुनाथ मोहल्ले में बदमाशों द्वारा लूटपाट करके गोली मारने की सूचना को पुलिस ने गलत पाया है. घायल के घर से लूट का सामान बरामद हुआ है. जिस पिस्तौल से गोली मारी गई थी, वह पिस्तौल भी बरामद की गई है. बहन ने ही अपने भाई को गोली मारी है. फिलहाल पुलिस आगे की जांच पड़ताल में जुटी है, आवश्यक विधिक कार्रवाई कर रही है.
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126