उत्तरप्रदेश के 21 जिलों में रेलवे का काम करेंगे मनरेगा मजदूर

862.23 लाख रुपए से रेलवे के प्रयागराज जोन में होंगे 74 काम
4 लाख 31 हजार 115 मानव दिवस का सृजन होगा
उत्तरप्रदेश के 21 जिलों में रेलवे के काम का मनरेगा मजदूरों को भुगतान सरकार करेगी
जबकि म.प्र. के 4 जिलों और राजस्थान के 1 जिले के रेलवे से मनरेगा के काम का भुगतान उन राज्यों की सरकारें करेंगी
अनिल शर्मा+संजय श्रीवास्तव+बृज मोहन निरंजन
झाँसी: उत्तरप्रदेश के 21 जिलों में मनरेगा के मजदूर रेलवे का काम करेंगे। उत्तर मध्य रेलवे के जोन प्रयागराज के झाँसी मंडल तथा आगरा और प्रयागराज मंडलों के मनरेगा मजदूरों से रेलवे का यह काम कराया जाएगा। 21 जिलों में काम करने वेक मनरेगा मजदूरों को उनकी दिहाड़ी उत्तरप्रदेश सरकार देगी। जबकि मध्यप्रदेश के 4 जिलों और राजस्थान के 1 जिले रेलवे का काम जो मनरेगा मजदूर करेंगे उन्हें उन राज्य की सरकारें भुगतान करेंगी। इस संबंध में जानकारी देते हुए उत्तर मध्य रेलवे के मुख्य जन सम्पर्क अधिकारी अजीत कुमार सिंह ने यंग भारत को बताया कि उत्तरप्रदेश के 21 जिलों में रेलवे का मनरेगा से होने वाला काम प्रयागराज मंडल के मनरेगा मजदूर प्रयागराज, कानपुर, मिर्जापुर, पंडित दीनदयाल उपाध्याय जंक्शन(मुगल सराय), टूंडला, इटावा, जालौन, झाँसी, ललितपुर, बाँदा, हमीरपुर, महोबा, मानिकपुर(चित्रकूट), उन्नाव, कानपुर देहात, मध्यप्रदेश के 04 जिले तथा राजस्थान के 01 जिले में रेलवे का काम मनरेगा मजदूरों के माध्यम से होगा। मुख्य जन सम्पर्क अधिकारी श्री सिंह ने बताया कि इसके लिए 862.23 लाख रुपए से रेलवे के प्रयागराज जोन के 74 काम होने हैं। इस कार्यों के 69 प्रस्ताव मंजूरी के लिए रेलवे मंत्रालय को भेजे गए हैं।
मनरेगा मजदूरों के माध्यम से 4 लाख 31 हजार 115 मानव दिवस पर काम का बराबर औसत दिया जाएगा।