उरई में धमकी के बाद धारदार हथियार से हत्या

उरई(जालौन)। दीपावली पर रतनगढ़ मातारानी के दरवार मे दर्शन को जाते समय रास्ते मे मिली धमकी से डरे एक अधेड़ ने रिश्तेदारी में शरण ली लेकिन वहां भी उसकी हत्या हो गई। गांव के बाहर मिले शव को देख दहशत फैल गई।

रविवार को क्योलारी निवासी देवी सिंह कुशवाहा अपने बेटे सतेन्द्र के साथ बाइक पर रतनगढ़ के लिए निकला था। देव सिंह जब देवगांव और पीपरी के बीच था तभी रास्ते मे उसे बाइक सवार पांच अज्ञात लोग मिले और रोक धमकी दी। उसको धमकी दी गई कि लिखाई गई रिपोर्ट वापस ले ले।जिससे देवसिंह व उसका बेटा डर गया और रतनगढ़ न जाकर कैलिया में अपने मामा के यहां शरण ली।रात देवसिंह शौच को गांव बाहर गया तभी उसकी धारदार हथियार से हत्या कर दी गई। काफी देर देवसिंह नही लौटा तो परिवार के लोगों उसकी खोज की लेकिन उसका पता नहीं लगा।सोमवार की सुबह उसका शव गांव के बाहर मिला। सड़क किनारे खून से लथपथ शव देख हड़कंप मच गया और पूरे इलाके मे दहशत फैल गई। मृतक के परिजन भी पहुंचे और शव देख उनके होश उड़ गए।

मृतक के बेटे ने पुलिस को बताया की कुछ महीने पहले उसके पिता ने कुछ के खिलाफ रेंढर थाने रिपोर्ट लिखाई थी। वह अक्सर धमकी देते थे।सूचना पर एसपी डायशवीर सिंह सीओ जालौन विजय आनंद और कैलिया थाना पुलिस मौके पर पहुंचे और हत्या के सुराग जुटाने मे लगे है। इस सनसनीखेज वारदात से पूरे इलाके में दहशत है।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126