उरई से एट हाइवे पर ट्रक वाले कांप रहे है डीजल लूटने वाले गिरोह से

प्रतीकात्मक तस्वीर

इनोवा से आता है अस्लाहधारी गिरोह

किसी मशीन से खींच लेते है डीजल टैंक का ताला तोड़कर डीजल

इनोवा मे रखे रहते है ड्रम, टोकने पर अड़ा देते है तमंचा

सीओ और एट एसओ ने पूरे हाइवे पर राउण्ड लेकर प्रत्यक्षदर्शियों से ली है पूरी जानकारी

मगर अभी तक डीजल लूटने वाला गिरोह है पुलिस की पकड़ से बाहर

उरई(जालौन): जिला मुख्यालय से लगभग 28 किलोमीटर दूरी पर एट कस्बे के मध्य आज कल ढ़ावों और पेट्रोल पंपो पर जो ट्रक भोर मे 3 बजे से 6 बजे के मध्य खड़े रहते है। उनके डीजल टैंक का लाॅक तोड़कर मशीन द्वारा इनोवा सवार युवकों का गिरोह डीजल अपने ड्रमों मे मशीन की सहायता से भर लेता है। जिस कारण उक्त हाइवे पर जो झांसी को जाने वाला फोर लेन है वहां ट्रक वालों, ढ़ाबा और पेट्रोल पंप के कर्मचारियों मे काफी दहशत ब्याप्त है। प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार वह समय ड्राइवरों के सोने का समय होता है और वे गहरी नींद मे सो जाते है। उसी समय डीजल लूटने वाला गिरोह आकर ट्रक का पूरा टैंक अपने हुनर से साफ कर देता है। इस बीच अनेक बार यदि ट्रक का स्टाफ आ गया और उसने विरोध करने की कोशिश की। तो डीजल के लुटेरे तत्काल तमंचा निकाल कर अड़ा देते है और खामोश रहने की धमकी देते हुए उनकी गाड़ी फर्राटे भरते हुए निकल जाती है।

जब डीजल लूटने की शिकायतें प्रत्यक्षदर्शियों द्वारा पुलिस अधिकारियों तक पहुंचायी गयी तो बीते रोज सीओ ने एसओ एट को साथ लेकर पूरे फोरलेन मार्ग का दोरा किया। इस बीच सीओ और एसओ ने कई पेट्रोलपंप कर्मचारियों, ढ़ाबा कर्मियों और रात मे पंचर वगैरह का काम करने वाले लोगों से पूछताछ की। तो ज्ञात हुआ कि लगभग एक माह से यह सिलसिला उक्त फोरलेन पर उरई और एट के मध्य निरंतर चल रहा है। ट्रक का पूरा डीजल साफ कर देने से एक ही ट्रक मे हजारों का नुकसान हो जाता है। ऐसे मे निरंतर ट्रक ड्राइवरों और मालिकों को धन की हानि उठाना पड़ रही है। यही नही पूरे मार्ग पर डीजल लूटने वाले गिरोह का खासा आतंक ब्याप्त है। रही एट थानायक्ष और थाना पुलिस की बात तो वे रोड पर रात मे रहते जरूर है मगर उक्त गिरोह का न तो उन्हें अता पता है और न ही एक भी आरोपी को पकड़ पाने की कोशिश भी उनके द्वारा की गयी है। “यंग भारत” को पता नही है कि इस डीजल की लूट से पुलिस अधीक्षक अवगत हैं या नही, मगर पीड़ितों ने पुलिस अधीक्षक से तत्काल कार्रवाई करके इस गिरोह को पकड़वाने एवं दहशत दूर करवाने की मांग की है।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126