ऊपर से दवाब आया तो कर्बी पुलिस ने प्रसिद्ध समाजसेवी राजाभइया को छोड़ दिया

भरतकूप में 50 क्रैषरों एवं पहाड़ों में काम करने वाली 10 से 18 वर्ष की लड़कियों के शोषण का आरोप
इलेक्ट्रानिक चैनल आज तक की संवाददाता मौसमी सिंह ने नरकलोक के नाम से प्रसारित की थी लड़कियों की यातना
इससे क्षेत्रीय दबंग ठेकेदार और पुलिस प्रषासन बौखला गया
कल कर्बी पुलिस ने राजा भईया को उनके अतर्रा विद्याधाम समिति से दो बजे उठाया था
आज तक के एक्जीक्यूटिव एडीटर राहुल कमल ने जब प्रदेश शासन और आला पुलिस अधिकारियों से बात की
इसके बाद राजा भइया आज अपरान्ह तीन बजे छोड़े गए
बाल विकास आयोग की टीम घटना स्थल पर पहुंची
राष्ट्रीय महिला आयोग की टीम कल पहुंचेगी
अनिल शर्मा़+संजय श्रीवास्तव़+डा0 राकेश द्विवेदी

चित्रकूट। जनपद के भरतकूप क्षेत्र में लगभग 50 क्रैषर हैं क्रैषरों और पहाड़ों पर का करने वाली 10 से 18 साल की लड़कियों से मजदूरी कराने के साथ साथ उनका यौन शोषण करने का आरोप लगाती हुई एक स्टोरी आज तक की संवाददात मौसमी सिंह ने की थी। इसे आज तक में प्रसारित भी किया गया था। इसको लेकर चित्रकूट के दबंग ठेकेदार और पुलिस प्रषासन बौखला गया। कर्बी कोतवाली पुलिस ने कल 11 जुलाई दोपहर दो बजे बांदा जनपद की अतर्रा तहसील में स्थित प्रसिद्ध समाज सेवी संस्था विद्याधाम समिति के कार्यालय से समाजसेवी राजा भइया को पकड़ लिया। उन्हें पूछताछ के लिए कर्बी ले आए। जहां पहले एसपी के सामने ले जाया गया। जहां उनसे पूछताछ हुई कि वे कैसे भरतकूप पहुंच गए। यह भी पूछा गया किवे भरतकूप में पहाड़ों और क्रैषरों में काम करने वाली लड़कियों के पास आज तक की संवाददाता मौसमी सिंह को क्यों ले गए। इस पर समाजसेवी राजा भइया ने कहा कि लोकतंत्र में मीडिया स्वतंत्र है। आज तक संवाददाता मौसमी सिंह उनकी परिचित हैं। उन्होंने दबंग ठेकेदारों हो रहे इस शोषण पर स्टोरी करने की बात कही तो वे उन्हें वहां ले गए।
यह स्टोरी आज तक पर नरक लोक के नाम से प्रसारित हुई। कर्बी पुलिस के अधिकारियों ने राजा भइया से पूछा कि लड़कियां और परिवारीजन आज तक को दिए अपने बयान से इन्कार कर रहे हैं। राजा भइया ने बताया कि आज तक की संवाददाता मौसमी सिंह को, उनके फोटोग्राफर संजय सिंह को, लड़कियों ने, उनके मां बाप ने अपने शोषण की बात बताई थी और दबंग ठेकेदारों के द्वारा जो अलग से रुपया इन मासूम लड़कियों को दिया जाता था। उससे वे मेकप का सामान खरीदने के लिए उनसे कहते थे। पीड़ित लड़िकियों और उनकी मां के बयान आज तक ने लिए हैं और यह स्टोरी टीवी चैनल पर दिखाई भी है। राजा भइया ने पुलिस अधिकारियों ने यह भी कहा कि माफियाओं के विरुद्ध बोलने और उनकी रिपोर्ट लिखाने का साहस कोई करता है क्या।
इस कांड के खुलासे के बाद दिल्ली से लेकर लखनऊ तक हड़कंप मचा हुआ है। दिल्ली बाल विकास आयोग की टीम मौके पर पहुंच गई है। कल केन्द्रीय महिला आयोग की टीम भी भरतकूप पहुंच कर पीड़ितों और उनके परिवारीजनों से बातचीत करेगी। आज तक के इस खुलासे के बाद राजनैतिक क्षेत्र में भी हड़कंप मचा हुआ है। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेष यादव ने मासूम बालिकाओं का शोषण करने वाले दबंग ठेकेदारों के खिलाफ सरकार से कठोर कार्यवाही की मांग की है। न्याय न मिलने पर सपाइयों के भरतकूप कूच करने की धमकी भी दी है। वहीं कांग्रेस की राष्ट्रीय महासचिव व उप्र प्रभारी प्रियंका गांधी ने दलित कोल आदिवासी बालिकाओं के साथ दबंग ठेकेदारों द्वारा किए जा रहे शोषण को शर्मनाक घटना बताया और सरकार से दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने की मांग की।