एफआइआर लिखे जाने के बाद अब क्या करेंगे पूर्व आइएएस अधिकारी और प्रखर समाजसेवी सूर्य प्रताप सिंह?

पहले आगरा में भाजपा के फार्म हाउस पर चल रहे देह व्यापार के मामले को उठाकर सूर्य प्रताप सिंह ने भाजपा नेतृत्व को नाराज कर दिया था

अब कोरोना महामारी के उपचार को लेकर जो तंज सूर्य प्रताप सिंह ने भाजपा सरकार पर किए हैं उसको लेकर उनके विरुद्ध एफआइआर हुई है

अब क्या रणनीति अपनाएंगे सूर्य प्रताप सिंह?

अनिल शर्मा़+संजय श्रीवास्तव़+डा0 राकेश द्विवेदी

लखनऊ। उप्र की राजधानी लखनऊ में रिटायर्ड आइएएस आफीसर सूर्य प्रताप सिंह के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली में एफआइआर दर्ज कराई गई है। इसमें कहा गया है कि ट्विटर पर सूर्य प्रताप सिंह ने कोरोना को लेकर सरकार विरोधी भ्रामक पोस्ट डाली है। जिसमें उन पर आरोप है कि उन्होंने मुख्य सचिव के माध्यम से कोरोना टेस्ट को लेकर डीएम को हड़काने की फर्जी खबर पोस्ट की थी। एफआइआर दर्ज होने के बाद सूर्य प्रताप सिंह ने कई ट्विट किए हैं। उन्होंने कहा कि कोरोना टीम ग्यारह पर मेरे ट्विट को लेकर सरकार ने मेरे खिलाफ मुकदमा दर्ज किया है। सबसे पहले मैं यह साफ कर देना चाहता हूं कि उप्र की सरकार की पालिसी पर मेरे द्वारा दिए गए बयान नो टेस्ट नो कोरोना पर मैं आज भी अडिग हूं और सरकार से निरंतर सवाल पूछता रहूंगा।
हजरतगंज कोतवाली में सचिवालय चैकी प्रभारी सुभाष सिंह की तहरीर पर आइपीसी की धारा 188, 505 महामारी अधिनियम एफआइआर में एफआइआर दर्ज की गई है। पुलिस मामले की जांच कर रही है। पूर्व आइएएस अधिकारी सूर्य प्रताप सिंह ने अपने ट्विट में लिखा था कि सीएम योगी की टीम 11 की मीटिंग के बाद मुख्य सचिव ने एक जिले के डीएम को फोन करके कहा था कि कोरोना टेस्ट करवाने में इतनी तेजी क्यों पकड़े हुए हो। ऐसी चर्चा है कि कोरोना के जितने टेस्ट होंगे उतने ही मामले बढ़ेंगे। इस पर पूर्व आइएएस अधिकारी सूर्य प्रताप ने कहा कि वे अपने बयान में अडिग हैं और आगे भी सरकार से सवाल पूछते रहेंगे। उन्होंने कहा कि मुख्य सचिव की कही बात को मैंने कोड किया था और जब कोई जवाब नहीं आया तो मैंने उसे मौन सहमति मान लिया। अगर जवाब देने की बजाय सरकार मुकदमा करने की प्रथा आगे बढ़ाना चाहती है तो उन्होंने ट्विट में लिखा कि मैं तैयार हूं आइए मुझे गिरफ्तार करिए। उन्होंने कहा कि वे सच्चाई के लिए संघर्ष करते रहेंगे।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126