कई वर्षों से भाई का फर्ज निभाते आ रहे यूसुफ अंसारी

श्रीमती डा. गीतेश को देते बहन सा स्नेह

उरई (जालौन)। जनपद के समाजसेवी के नाम से अपनी अलग पहचान बनाने वाले यूसुफ अंसारी अलमारी वाले वैसे तो हरेक गरीब और मजलूम की मदद के हर समय खड़े रहते है उसी तरह जिला महिला चिकित्सालय उरई तैनात श्रीमती
डा. गीतेश को अपनी सगी बहन की तरह स्नेह देने भी नहीं चूकते है। यूसुफ अंसारी हर हिन्दू त्योहार पर अपनी मुंह बोली बहन डा. गीतेश के आवास पहुंच पर उन्हें बहन जैसा स्नेह देने से नहीं चूंकते है चाहे दीवाली की भईयां दोइज हो या फिर होली के त्योहार की दोयज हो या फिर रक्षाबंधन बंधन का त्योहार हो डा. गीतेश से तिलक और राखी बंधवाने से कभी नहीं चूंकते है यह सिलसिला उनका कई वर्षों से बादस्तूर चला आ रहा है। यहां तक बहन डा. गीतेश के हर सुख-दुख खबर लगते मौके पर पहुंचने का काम दिखाते है और उनकी हर संभव मदद करते है। श्री अंसारी ने डा. गीतेश को भाई न होने कभी भी एहसास नहीं होने दिया है और वे भाई की तरह ही हर फर्ज निभाने के लिए तैयार रहते है। यहीं है आज के समय जाति और धर्म से ऊपर उठकर भाई-बहन का रिस्ता जो शदियों तक अमर रहता है ऐसे निभाने वाले बहुत ही कम देखने को मिलते है।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126