कथावाचक मोरारी बापू के खिलाफ एफआईआर(FIR) कराने की यदुवंशियों ने की मांग

डीएम को ज्ञापन सौंप यादव संगठन ने उठायी मांग
श्री कृष्ण, बलदाऊ और उनके पुत्रों को कथावाचक द्वारा व्यभिचारी कहने पर आक्रोश
उरई: हिन्दू धर्म के आराध्या भगवान श्री कृष्ण उनके बड़े भाई बलदाऊ एवम उनके पुत्रों आदि को अपनी कथावाचन के दौरान व्यभिचारी कहे जाने पर हिंदुओ में रोष फैल गया।
जिलाधिकारी डॉक्टर मन्नान अख्तर को एक ज्ञापन सौंपकर यादव संगठन ने कथावाचक मोरारी बापू के द्वारा आस्था टीवी चैनल पर श्री की राम कथा सुनाते समय योगी राज श्री कृष्ण, बड़े भाई बलदाऊ तथा उनके पुत्रों को शराबी एवम व्यभिचारी कहकर उनके चरित्र हनन का प्रयास किया गया। यह आरोप लगाते हुए ज्ञापन में मोरारी बापू के विरुद्ध एफआईआर दर्ज करके अविलंब गिरफ्तार करने की मांग की है। चेतावनी यह भी है कि यदि कार्यवाही तत्काल न की गई तो व्यापक आंदोलन छेड़ दिया जाएगा। मोरारी बापू को ज्ञापन दाताओं ने मानसिक रोगी बताया और कहा कि उन्होंने हिन्दू धर्म के भगवान के विरुद्ध जिस तरह के शब्दों का प्रयोग किया है। उसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जा सकता। ज्ञापन देने वालों ने अखिलेश कुशवाहा प्रदेश सचिव छात्र सभा, यादव सेना के जिलाध्यक्ष मिलन यादव, अमन यादव, संजय यादव, अमित यादव, ऋषभ यादव, राम गुर्जर, विवेक गौतम, शिवा यादव एवम धर्मेंद्र सिंह सनी सहित अनेक श्रद्धालु उपस्थित थे।