कुएं में गिरी लड़की को बचाने कूदीं उसकी दो बहनें, तीनों की डूबने से मौत

उत्तर प्रदेश के मिर्जापुर में मंगलवार की दोपहर दर्दनाक हादसा हो गया। हलिया के हर्रा गांव में कुएं पर कपड़ा धोने पहुंची तीन बहनों की डूबने से मौत हो गई। इसमें दो सगी बहनें थीं। स्थानीय लोगों की मदद से तीनों का शव बाहर निकाला गया। तीनों की उम्र सात से 14 साल के बीच थी। उसकी आवाज सुनकर आसपास के लोग पहुंच गए।

हर्रा गांव निवासी सुरेंद्र बहादुर यादव की सात साल की बेटी पिंकी घर से कुछ दूर स्थित कुएं पर कपड़ा धोने गई थी। उसके साथ चाचा महेंद्र बहादुर यादव की 14 साल की बेटी जड़ावती और 8 साल की कंचन भी गई थी। बगैर जगत वाले कुएं में बरसात का पानी लबालब भरा था। कपड़ा धोने के दौरान अचानक पिंकी का पैर फिसल गया और कुएं में गिरी पड़ी। पिंकी को डूबता देख जड़ावती और कंचन उसे बचाने के लिए कूद पड़ीं। लेकिन, पिंकी के साथ जड़ावती व कंचन भी डूबने लगीं। कुएं में बहनों को डूबते हुए देख साथ में मौजूद एक और बहन 12 साल की पूनम शोर मचाते हुए घर की ओर दौड़ पड़ी।

घर में एक साथ तीन बच्चियों की मौत से कोहराम मच गया। महेंद्र यादव व सुरेंद्र यादव दोनों किसान हैं। जड़ावती नदना पूर्व माध्यमिक विद्यालय में कक्षा आठ की छात्रा थी। कंचन व पिंकी प्राथमिक विद्यालय हर्रा में पढ़ती थीं।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126