कोचिंग पढ़ने गईं दो छात्राएं लापता

कानपुर देहात: जिले में कोचिंग पढ़ने गईं दो छत्राओं के अचानक लापता होने का सनसनीखेज मामला सामने आया है. पीड़ित परिजनों ने गांव के ही दो युवकों पर छत्राओं को गायब करने का आरोप लगाया है. वहीं तत्काल प्रभाव में पुलिस ने इस मामले को दर्ज कर लिया है. इसके बाद लापता छात्राओं और आरोपियों की तलाश में जुट गई.
जहां एक ओर सीएम योगी छात्राओं और महिलाओं के साथ हो रहे अपराध रोकने के लिए हर संभव प्रयास कर रहे हैं. इसके लिए सूबे में एंटी रोमियो दल से लेकर मिशन शक्ति अभियान जैसे कार्यक्रम चलाए जा रहे हैं. इसके बावजूद सूबे में छात्राओं और महिलाओं के साथ हो रही आपराधिक घटनाएं रुकने का नाम नहीं ले रही हैं. इन घटनाओं से सूबे का कोई भी जिला अछूता नहीं है. कुछ ऐसा ही हाल यूपी के जनपद कानपुर देहात में भी देखने को मिला है. यहां कोचिंग पढ़ने गई दो छात्राएं लापता हो गईं. परिजनों ने गांव के ही दो युवकों पर छात्राओं को गायब करने का आरोप लगाया है. पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए लापता दोनों छात्राओं की तलाश शुरू कर दी है. वहीं आरोपी युवकों की गिरफ्तारी के लिए पुलिस दबिश दे रही है. लापता लड़कियों के परिजन पुलिस पर लापरवाही का आरोप लगा रहे हैं.
ये है पूरा मामला
कानपुर देहात के मंगलपुर थाना क्षेत्र में कोचिंग पढ़ने गईं दो इंटरमीडिएट की छात्राएं संदिग्ध पस्थितियों में लापता हैं. लापता छात्राओं के परिजनों ने बताया कि दोनों इंटरमीडिएट की छात्राएं हैं, जो 4 दिन पहले घर से कोचिंग पढ़ने गई थीं. परिजनों से दोनों छात्राओं ने बताया था कि कोचिंग पढ़ने के बाद कॉलेज जाएंगी. फिर बाद में एक और कोचिंग पढ़ने की बात कहकर घर से निकली थी. देर शाम तक जब वह घर नहीं पहुंची तो परिजनों ने उनकी तलाश शुरू कर दी, लेकिन उनका कोई सुराग नहीं लगा. इसके बाद दोनों छात्राओं के परिजनों ने पुलिस से गांव के बाबू और अवध नारायण पर छात्राओं को गायब करने का आरोप लगाते हुए शिकायती पत्र दिया. छात्राओं के परिजनों की तहरीर पर पुलिस ने मामला दर्ज करते हुए कार्रवाई शुरू कर दी है. परिजनों ने पुलिस पर भी लापरवाही का आरोप लगाया है. वहीं, पुलिस विभाग के अधिकारियों की मानें तो मामला दर्ज कर छात्राओं की तलाश शुरू कर दी गई है.
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126