कोविड-19 की कार्यवाही में शासन ने की पुलिस अधीक्षक की सराहना

बुंदेलखंड के सातों जिलों में अव्वल आया जालौन जनपद
धारा 188 में 114, धारा 15(3) में 1480, धारा 15(4) में 114, धारा 15(5) में 149 मामले करवाए पंजिकृत
झाँसी और चित्रकूट रेंज के सातों जिलों में जालौन का प्रथम स्थान
उरई(जालौन): कोविड-19 की गाइडलाइन के उल्लंघन के मामलों में पुलिस द्वारा की गई कार्यवाहियों में दोनों रेंजों के जनपदों में क्रमशः बाँदा, हमीरपुर, चित्रकूट, महोबा एवम झाँसी, ललितपुर और जालौन में जनपद जालौन को प्रथम स्थान प्राप्त हुआ है। अवर मुख्य सचिव उत्तरप्रदेश शासन अवनीश अवस्थी द्वारा कार्यवाहियों का जब मूल्यांकन किया गया तो बुंदेलखंड के सातों जनपदों में जालौन के पुलिस अधीक्षक डॉ. सतीश कुमार की उन्होंने सराहना की।
उल्लेखनीय है कि युवा पुलिस अधीक्षक डॉ. सतीश कुमार वैश्विक महामारी से सामने आ खड़ी हुई विकराल चुनौती का सामना करने में पूरी निपुणता के साथ जूटे रहे। जहां जिलाधिकारी डॉ. मन्नान अख्तर के साथ उन्होंने जनपद भर में घूम-घूमकर दिन रात एक कर दिया। वहीं स्वयं भी पूरी तरह से अपने कर्तव्य में डटे रहे और अभी भी डटे हुए हैं। इसी का परिणाम है कि जनपद जालौन कोरोना की कार्यवाही में प्रथम आया है। जिसका पूरा श्रेय पुलिस अधीक्षक डॉ. सतीश कुमार को जाता है। जनपद के जागरूक नागरिक श्री सिंह की इस कर्तव्यनिष्ठा की सराहना कर रहे हैं।