कोविड-19 में प्रदेश में लॉक डाउन के दौरान हुई कार्यवाही में बुंदेलखंड में जालौन प्रथम

अनिल शर्मा+संजय श्रीवास्तव+डॉ. राकेश द्विवेदी
लखनऊ: कोविड-19 में प्रदेश में लॉक डाउन के दौरान हुई विभिन्न कार्यवाहियों में बुंदेलखंड में जालौन प्रथम स्थान पर रहा। प्रदेश के अपर मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी के कार्यालय से मिली जानकारी के अनुसार बुंदेलखंड के सातों जिलों में से जालौन जिले मे जिसकी जनसंख्या 16 लाख 89 हजार 974 है। इस जिले में भारतीय दंड विधान की धारा 188 के तहत जिले में लॉक डाउन की अवधि में कुल 114 मामले पंजीकृत किये गए हैं। जो प्रदेश में रैंक के हिसाब से 64वा नंबर रहा। इसी तरह धारा 15(3) सार्वजनिक स्थल में मास्क न लगाने पर 1480 मामले दर्ज किए गए। जिनसे कुल 1 लाख 86 हजार 300 रुपये जुर्माने के रूप में वसूल किये गए। इस तरह से प्रदेश में जिले को 18वीं रैंक मिली। इसी तरह धारा 15(4) में सरकारी गाइडलाइन के उल्लंघन में जैसे रात्रि निषेधात्मक कार्य, धार्मिक जुलूस आदि के मामले में नियम का उल्लंघन करने वालो के खिलाफ 141 मामले दर्ज किए गए। तथा उनसे जुर्माने का रुप में कुल 23 हजार 1 सौ रुपये वसूल किये गए। इस मामले में जिले की प्रदेश की 17वीं रैंक रही। इसी तरह धारा 15(5) दो पहिया वाहनों में पिछली सीट पर बैठने के मामले में कुल 149 लोगों के विरद्ध जुर्माना हुआ। जुर्माने का तौर पर उनसे कुल 43 हजार 650 रुपए वसूले गए। इस मामले में जालौन जिले की प्रदेश ने 45वी रैंक रही। इसी तरह बुंदेलखंड के अन्य जनपदों में क्रमशः महोबा जनपद में धारा 188 में महोबा जिले की 72वी रैंक रही, धारा 15(3) में प्रदेश में 12वी रैंक रही, धारा 15(4) में प्रदेश में 32वी रैंक रही और धारा 15(5) में प्रदेश में 13वी रैंक रही। इसी तरह बाँदा जनपद में धारा 188 में 56वी रैंक रही, धारा 15(3) में 72वी रैंक रही, धारा 15(4,5) में 45वी रैंक रही। इसी प्रकार चित्रकूट जनपद में धारा 188 में 57वी रैंक रही, धारा 15(3) में 61वी रैंक रही, धारा 15(4) में 66वी रैंक रही, धारा 15(5) में 18वी रैंक रही। इसी तरह हमीरपुर जिले की धारा 188 में 49वी रैंक रही, 15(3) के मामले में 14वी, 15(4) के मामले में 67वी, 15(5) के मामले में प्रदेश में 12वी रैंक रही। इसी तरह झाँसी जनपद में धारा 188 में 43वी, धारा 15(3) में 31वी, धारा 15(4) में 33वी ,धारा 15(5) में प्रदेश में 49वी रैंक रही। इसी प्रकार ललितपुर जनपद में धारा 188 मे 61वी, धारा 15(3) में 48वी, धारा 15(4) में 68 वी और धारा 15(5) में प्रदेश में 73वी रैंक रही।