पराली जलाने पर 3 महिलाओं समेत 4 के खिलाफ मुकदमा, तहसीलदार ने दी चेतावनी
कालपी(जालौन) खेतों में पराली जलाकर प्रदूषण फैलाना कदौरा व्लाक के दो ग्रामों के किसानों को मंहगा पड़ गया।क्षेत्रीय लेखपालों ने आरोपी किसानों के खिलाफ सम्बन्धित थानों में एफआईआर दर्ज कराई है।तहसीलदार शशिविन्द द्विवेदी के मुताबिक अकोढ़ी ग्राम की लेखपाल विभा ने खेत में पराली जलाने के मामले में आरोपी किसान उदयभानू के बिरुद्ध थाना आटा मे अभियोग पंजीकृत कराया है।इसी प्रकार बबीना गांव के लेखपाल अनूप कुमार ने खेतों में पराली जलाने के आरोप लगाते हुए तीन महिला काश्तकारों के खिलाफ कदौरा थाना में एफआईआर दर्ज कराई है।उक्त प्रकरणों की पुलिस बिबेचना करने में जुट गयी है।वहीं पराली जलाकर वातावरण को प्रदूषित करनेवाले लोगों मे खलबली मच गयी है।तहसीलदार ने चेतावनी देते हुए कहा कि पराली जलाने वाले लोगों को किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जायेगा।
चैरसिया महासभा के प्रदेश अध्यक्ष ने सजातीयो मे भरा जोश
कालपी(जालौन) सोमवार को कालपी में पहली बार पधारे चैरसिया महासभा के प्रदेश अध्यक्ष विजय चैरसिया एंव प्रदेश मिडिया प्रभारी अधिवक्ता रत्नम् चैरसिया का कालपी यमुना पुल में चैरसिया महासभा के तहसील अध्यक्ष राजकुमार चैरसिया के नेतृत्व में चैरसिया महासभा के सैकड़ों सदस्यों द्वारा फूल मालाओं से स्वागत किया गया।
नगर के गैस्ट हाउस में एकत्रित समाज के लोगों को सम्बोधित करते हुए प्रदेश अध्यक्ष ने कहा कि देश हित एवं समाज के हित को दृष्टि गत रखते हुए समाज के लोग संगठित रहें। तभी देश व समाज का विकास सम्भव है। उन्होंने बताया समाज के द्वारा आर्थिक रूप से कमजोर मेधावी छात्र छात्राओं के की शिक्षा तथा विवाह योग्य कन्याओं के लिए आयोजित विवाह सम्मेलनों के माध्यम से होने वाले विवाह समारोहों में भागीदारी सुनिश्चित करने के लिए सघन जनसंपर्क किया जाना जरुरी है। इसके महासभा के लोगों की मासिक बैठक के माध्यम से कार्यक्रमों की रुपरेखा बनायें, मेधावी छात्र छात्राओं तथा विवाह योग्य कन्याओं की सम्पूर्ण जानकारी संग्रह कर जिला तथा प्रदेश के पदाधिकारियों को सूचित करे। समाज हित में सहयोग करें। इस अवसर पर प्रमुख रुप से राजू चैरसिया, महेश चैरसिया, राजेश चैरसिया, अवधेश कुमार चैरसिया, सोनू चैरसिया, दीपू चैरसिया, रामशंकर चैरसिया, मुन्ना चैरसिया, जीतू चैरसिया, शुरू चैरसिया सहित बड़ी तादाद में चैरसिया महासभा के लोग मौजूद रहे।
पुलिस ने बैंकों मे चलाया चैकिंग अभियान
कालपी(जालौन) पुलिस अधीक्षक डा.यशवीर सिंह के निर्देश पर कालपी कोतवाली पुलिस के जवानों के द्वारा नगर की बैंक शाखाओं तथा वित्तीय संस्थानों का घूम घूम कर निरीक्षण करके सुरक्षा उपायों का जायजा लिया। सोमवार को बाजारों तथा बैंकों में भारी भीड़ को मद्देनजर रखकर प्रभारी निरीक्षक शिवगोपाल वर्मा,उपनिरीक्षक विनेश कुमार प्रजापति रामगंज चैकी इंचार्ज राम विनोद की टीमों ने स्टेट बैंक,बैंक ऑफ बड़ौदा,इलाहाबाद बैंक,सिंडीकेट बैंक की शाखाओं में पहुंच कर सुरक्षा का निरीक्षण किया। इस दौरान पुलिस जवानों ने बैंक परिसर के इर्द गिर्द संधिग्ध हालत में घूमने वाले लोगो को रोक कर पूछताछ किया। पुलिस ने बैंकों के अलार्म तथा सी.सी.टीवी भी चेक किए।प्रभारी निरीक्षक ने बताया कि चैकिंग का कार्य निरंतर जारी रहेगा।
रात में दो वाहनो के टकराने से मार्ग रहा अवरुद्ध, वाहन का चालक हुआ घायल
कालपी(जालौन) कालपी स्थित यमुना नदी के पुल में दो वाहनों के टकराने से चालक गंभीर रूप से घायल हो गया।पुल मे दुर्घटना की वजह से कानपुर – झांसी साइड का राजमार्ग में काफी देर तक तक अवरुद्ध हो गया।
प्राप्त जानकारी के दस टायरा ट्रक भोगनीपुर से उरई की तरफ जा रहा था। रात करीब 3 बजे कालपी के यमुना पुल के उपर पहुंचने पर खराबी होने से ट्रक खड़ा हो गया। इसी दौरान डी.सी. एम वाहन असंतुलित होकर खराब खड़े ट्रक के पीछे से टकरा गया। इस दुर्घटना में डी.सी. एम चालक रणजीत सिंह पुत्र अशोक सिंह निवासी अछनेरा जिला आगरा गाड़ी में फस गया। डीसीएम के चालक को बाहर निकालकर सरकारी एम्बुलेंस १०८ से सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कालपी में भर्ती कराया। चिकित्सक डॉ उदय कुमार ने प्राथमिक उपचार के बाद जिला चिकित्सालय के लिए रिफर कर दिया। इस दुर्घटना के कारण वाहनों का जाम लग गया। कोतवाल शिवगोपाल सिंह एवं पुलिस टीम ने दुर्घटना ग्रस्त वाहनों को पुल से हटवाया। तब जाकर राष्ट्रीय राजमार्ग की यातायात व्यवस्था पटरी पर लौट सकी.
मंहगाई, कृतिमदूध, मूलभूत समस्याओं से जूझ रहे कालपी नगर वासी
कोटेदार मुख्यमंत्री के निर्देशों को दिखा रहे ठेंगा
कालपी(जालौन) वर्तमान में कालपी नगर के वासी मंहगाई एंव कृतिम दूध व मूलभूत समस्याओ से जूझने के कारण परेशान एंव बुरी तरह पीडि़त है। इस नगर में इस समय मिलावटी दूध जिसमें जहरीला कैमिकल मिला होने के कारण नागरिक पेट तथा लीवर की बीमारी से पीडि़त है शहर में सरेआम सिथेटिंक दूध तथा वाशिंग पाऊडर से मिला दूध बड़े पैमाने पर बिक रहा है नागरिक प्रतिदिन चाय के रूप अथवा दही के रूप में कैमिकल पी रहे है परिणाम स्वरुप प्रत्येक घर से 1 – 2 लोग डॉक्टरो की शरण में पड़े देखे जा रहे है खानपान विभाग की लापरवाही के कारण तथा मुख्य चिकित्साधिकारी के कर्तव्यहीनता के कारण मिलावट करने में लगे माफिया सरे आम जनता को लूट रहे है तथा उनके जीवन के साथ खिलवाड़ कर रहे है। उप्र सरकार ने प्रत्येक नगर में स्वास्थ विभाग के अधिकारियों की जिम्मेदारी फिक्स कर रक्खी है कि नगर में खानपान पदार्थो की वस्तुये शुद्ध बेची जावे। लेकिन यह अधिकारी घर बैठे लाखों रूपया वेतन के रूप में डकार रहे है तथा मासूम जनता सरेआम बीमारी रूपी सांप से डसी जा रही है। नगर में दीपावली त्यौहार नजदीक आते ही खोया की मिठाईयां 80 प्रतिशत कृतिम बिक रही है खोया में आलू की मिलावट कर के खोया की बिक्री की जा रही है। कई तरह की सुंदर एवं आर्कषित करने वाली कैमिकल युक्त मिठाईयां बनकर डम्प होने लगी है जो महत्वपूर्ण दीपावली त्यौहार में बेची जायेगी। खान -पान की वस्तुओं में पिसा हुआ आटा तथा दालें, चावल, मसाले सब के सब नकली बेच रहे है जिनको उपभोक्ता मजवूरी वश उपयोग कर रहा है और मौत की नजदीक पहुंच रहा है।उधर राशन की दूकानो में कार्ड धारको को पूरी सामग्री नही दी जा रही है कुछ दुकाने तो महीने में मात्र 4 – 5 दिन खुलती है जिसकी कई बार शिकायते भी कार्ड धारकों द्वारा की जा चकी है। गौरतलब हो कि राष्ट्रीय खाद्य सुरक्षा अधिनियम 2013 में दी गयी व्यवस्था के अनुसार प्रत्येक अन्त्योदय कार्ड धारक को 35 किलो ग्राम तथा पात्र गृहस्थी कार्डधारक को 5 किलोग्राम प्रति यूनिट खाद्यान्न प्रतिमाह दिया जाना है, जिसमें 2 रुपये प्रति किलोग्राम गेहूं तथा 3 रुपये प्रति किलोग्राम चावल पर मूल्य लाभार्थियों से प्राप्त करने की व्यवस्था की गयी है। लेकिन उक्त सामग्री कार्ड धारको पूरी नही दी जा रही है जिससे यह साबित होता है कि मुख्यमंत्री के आदेशों को ताक पर रखकर यहां के वर्तमान कोटेदार खद्यान्न मनमानी ढंग से कर रहे है। कालपी नगर जहां आस पास से हरी सब्जियां बिकने आती थी और बहुत कम दामों में ग्राहको को मिल जाती थी लेकिन तीन माह से तो आलम यह है कि सब्जी के दाम आसमान छू रहे है गरीबो की थाली से हरी सब्जी गायब है। कालपी नगर में राजनैतिक जागरूकता न होने के कारण, अधिकारी दफ्तरो में बैठकर आराम फरमाते है और उपरोक्ता लुट रहा है इन अधिकारियों पर कौन लगाम लगायेगा, कब लगायेगा, यह तो ईश्वर के अलावा कोई नही जनता है।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126