धनतेरस में यातायात तथा सुरक्षा के लिए प्रबंध
भीड़भाड़ वाले इलाकों में पुलिस ने बढ़ाई चौकसी, चैकिंग की
कालपी(जालौन): धनतेरस पर्व में भारी भीड़ भाड़ को मद्देनजर रखकर प्रशासन के द्वारा बाजारों में यातायात के पुख्ता प्रबंध किए गए है।तथा सुरक्षा के व्यापक इंतजाम कराए गए है। मालूम हो कि धार्मिक रीतिरीवाजो के तहत धनतेरस के त्यौहार पर शगुन के तौर पर जेवरात या बर्तन तथा इलेक्ट्रॉनिक सामानों की खरीददारी करने में महिलाओं से लेकर पुरुष आगे रहे है। इसी वजह से दुकानदारों ने अपनी अपनी दुकानों में सजावट कर ली है। ग्राहकों को आकर्षित करने के लिए दुकानदारों के द्वारा कई प्रकार की स्कीम भी लागू की है। प्रभारी निरीक्षक ने बाज़ार के अंदर भारी वाहनों,ट्रैक्टरों तथा टैक्सियों को दिन में आने जाने के लिए रोक लगा दी है। तरनगंज चौराहा,सराफा मार्केट,खोबा मंडी आदि स्थानों में उप निरीक्षकों कमल प्रताप सिंह,कमल किशोर,विनेश प्रजापति,नरेंद्र सिंह के साथ भारी संख्या में पुलिस जवानों की तैनाती की गई है। भीड़भाड़ वाले इलाकों में पुलिस की गश्त तेज कर दी गई है जिससे किसी प्रकार की कोई घटना व दुर्घटना ना हो सके।
यातायात नियमों का पालन कर जीवन को रखें सुरक्षित: शिवगोपाल सिंह
कालपी(जालौन): मंगलवार को सरस्वती विद्या मंदिर कालपी में प्रभारी निरीक्षक शिवगोपाल सिंह की अध्यक्षता में छात्र छात्राओं की गोष्ठी का आयोजन किया गया। इस दौरान यातायात नियमों की जानकारी देकर जागरूक किया गया। विद्यालय परिसर में शिक्षकों की मौजूदगी में आयोजित गोष्ठी को संबोधित करते हुए प्रभारी निरीक्षक ने कहा कि यातायात नियमों का पालन कर अपने और दूसरों के जीवन को सुरक्षित रखें। दोपहिया वाहन चलाते वक्त हेलमेट का तथा कार चलाने के दौरान सीट बेल्ट का प्रयोग अवश्य करें। इस बारे में छात्र छात्राएं अपने अपने घर के सदस्यों तथा पड़ोसियों को बताए। इसी तरह गाड़ी चलाते वक्त मोबाइल से वार्ता न करें बल्कि अपनी साइड पर ही चलें। उन्होंने यह भी कहा कि कोरोना वायरस का प्रभाव अभी पूरी तरह खत्म नहीं हुआ है इसलिए सभी लोग सामाजिक दूरी का पालन करें, फेस मास्क लगाएं तथा सेनेटाइजर का प्रयोग करें। कोरोना से बचाव के लिए सतर्कता बनाए रखें।
सप्ताह में महिला चिकित्सक तीन दिनों के लिए कालपी अटैच
कालपी(जालौन): मुख्य चिकित्सा अधिकारी डॉ अल्पना बरतरिया ने डकोर पी. एच.सी की चिकित्सक डॉ मांशी मौर्या को सामुदायिक स्वास्थ केंद्र कालपी में सफ्ताह के तीन दिनों के लिए संबद्धिकरण किया गया है। चिकित्सा धीक्षक डॉ सुंदर सिंह ने बताया कि डॉ मांशी मौर्या प्रतेक मंगलवार,गुरुवार तथा शनिवार को ओ. पी. डी की सेवाएं देंगी। डॉ मौर्या ने अस्पताल में योगदान देकर कार्य करना शुरू कर दिया है। उल्लेखनीय हो कि चिकित्सालय में १४ विशेषज्ञ चिकित्सकों की शासन से तैनाती का नियम है। लेकिन मात्र दो डॉक्टरों के भरोसे अस्पताल चल रहा है।चिकित्सको की कमी को पूरा करने के लिए विभाग जिम्मेदार कदम नहीं उठा रहे है। फलस्वरूप जनता को परेशानी उठानी पड़ रही है।
दो एएनएम की कमी
सीएचसी में महिला कर्मचारियों की कमी बढ़ती जा रही है।एक महिला स्वास्थ कर्मी विमला प्रनामी के सेवा निवृत्ति हो जाने के बाद अब दो ए एन एम की कमी हो गई है।महिला एएनएम सुशीला पाल को एलएचवी की जिम्मेदारी चिकित्सालय प्रबंधन के द्वारा सौंप दी गई है। जबकि एएनएम के तीन पदो के सापेक्ष केवल गायत्री देवी ही दायित्व निभा रही है। ए एन एम के दो पद रिक्त चल रहे है।
सेवा निवृत्ति पर महिला स्वास्थ कर्मी बिमला प्रनामी को दी गई विदाई
कालपी(जालौन): बीते ४० वर्षों तक महिला स्वास्थ कर्मी के पद की जिम्मेदारी का निर्वाह करने वाली एल. एच. वी विमला प्रनामी के सेवा निवृत्ति होने पर चिकित्सको तथा साथी कर्मचारियों ने भावभीनी विदाई देकर भविष्य में भी मार्ग दर्शन की कामना की। सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र कालपी के प्रभारी चिकित्सा धीक्षक डॉ सुंदर सिंह कि अध्यक्षता में आयोजित विदाई समारोह में चिकित्सक डॉ उदय कुमार, डॉ मानशी मौर्या, डॉ सत्य वती पाल,सुशीला पाल,हरिचरण सिंह,गायत्री देवी,प्रियंका राठौर,किशन राठौर,अरविंद राठौर,कुलदीप सचान,विनोद कटियार,रचना निरंजन आदि कर्मचारियों ने सेवा निवृत्ति कर्मी विमला प्रनामी के साथ किए शासकीय कार्यों की यादों को साझा करते हुए कहा कि उन्होंने बेहतर कार्य किए है। इस मौके पर फूल मालाएं पहनाकर सार्थी कर्मचारियों ने विदाई दी। समापन कार्यक्रम में बोलते हुए डॉ सुंदर सिंह ने कहा कि सेवा निवृत्ति के बाद अच्छे कार्य करे साथ ही अपने छो टो को समय समय पर मार्ग दर्शन करे। इस दौरान प्रतीक चिन्ह देकर साथी कर्मचारियों ने विदाई दी।
वकीलों ने एसडीएम कोर्ट के बहिष्कार का लिया निर्णय
कालपी(जालौन): मंगलवार को बार एसोसिएशन कालपी के अध्यक्ष अमर सिंह निषाद की अध्यक्षता में वकीलों की बैठक संपन्न हुई। बैठक में उप जिलाधिकारी के कार्यालों पर असंतोष प्रकट करते हुए कार्य बहिष्कार करने का निर्णय लिया गया। तहसील के अधिवक्ता भवन में आयोजित बैठक में इनायत अली हाशमी आदि वकीलों ने प्रार्थना पत्र के माध्यम से अवगत कराया की उप जिलाधिकारी कालपी ने अशोभनीय शब्दों का वकीलों के प्रति प्रयोग करके कुर्सी से उठा दिया है जो वकीलों कि गरिमा के प्रतिकूल है उप जिलाधिकारी के अव्यावहारिक रवाईए पर अधिवक्ताओं ने रोष प्रकट करते हुए निर्णय लिया की जब तक उप जिलाधिकारी का स्थानांतरण नहीं हो जाता तब तक बार एसोसिएशन कालपी कार्य का वाहिस्कर करेगा।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126