भगवती मिश्रा- तहसील प्रभारी जालौन

बूथ पर मनाई गई पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती
जालौन। पंडित दीनदयाल उपाध्याय की जयंती को ग्रामीण क्षेत्रों में भाजपाइयों द्वारा प्रत्येक बूथ पर मनाई गई। पंडित दीन दयाल उपाध्याय की जयंती पर उन्हें याद किया गया और उनके चित्र ओर माल्यापर्ण कर उन्हें पुष्प अर्पित किये गये।
भाजपा मंडल जालौन ग्रामीण के ग्राम देवरी में पं० दीनदयाल उपाध्याय की जयंती मनाते हुये जिलापंचायत अध्यक्ष प्रतिनिधि देवेंद्र सिंह निरंजन जी छुंना विरगुवां व मंडल प्रभारी चेयरमैन माधौगढ़ राजकिशोर गुप्ता ने ग्रामीण क्षेत्र के अंतर्गत पंडित दीनदयाल की 104 वी जयंती मनाई गयी। जिसमें प्रत्येक बूथ पर अध्यक्ष तथा कार्यकर्ताओं के अलावा पदाधिकारियो द्वारा उनके बारे में विस्तृत चर्चा की गयी। इस मौके पर मडंल अध्यक्ष मनोज बादल जिला पंचायत सदस्य-भानुवती वर्मा, मनु सिंह कुशवाहा धंतौली पूर्व मंडल अध्यक्ष कैलाश बाबू वर्मा देवरी तथा संजू तिवारी खनुआ आदि कार्यकर्ता बंधु मौजूद रहे।

रामलीला के आयोजन को लेकर समिति ने सीएम को संबोधित ज्ञापन डीएम को सौपा
जालौन। लॉकडाउन के चलते धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम रामलीला के आयोजन की अनुमति दिये जाने को लेकर बुंदेलखंड रंगकर्मी एवं समस्त रामलीला कलाकार बुंदेलखंड संरक्षक संघ ने एक ज्ञापन प्रदेश के मुखिया योगी आदित्यनाथ के प्रति जिलाधिकारी को सौंपा। आदर्श बुंदेलखंड रंगकर्मी कल्याण समिति एवं सयंत्र कल्याण बुंदेलखंड संरक्षक संघ द्वारा प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ को संबोधित एक ज्ञापन जिले के जिलाधिकारी डॉ मन्नान अख्तर को सौंपते हुए मांग की कि कोरोना वैश्विक महामारी के चलते सारे धार्मिक एवं सांस्कृतिक कार्यक्रम जो सामूहिक एकत्रीकरण के कारण कोरोना की आशंका है उन्हें बंद कर दिया गया था। तथा लॉक डाउन में जो रोज कमाने खाने वाले हैं उन्हें सरकार द्वारा आर्थिक सहायता भी दी गई लेकिन समाज का एक ऐसा वर्ग भी है जिन्हें सरकार द्वारा कोई सहायता नहीं दी गई उन्होंने आर्थिक लाभ मिला। जिसके चलते काम करने वाली रामलीला के कलाकार भुखमरी की कगार पर आ गए है। जब-जब अनलॉक प्रक्रिया शुरू हुई तो सरकार द्वारा रोज खाने कमाने वालों के लिए रोजगार के नियम कानून के साथ छूट भी दी गयी। अब हम रंग कर्मियों तथा रामलीला का मंचन करने वालों को भी रामलीला के मंचन कार्य करने की अनुमति दी जाये। पिछले छह सात महीना से रोज कमाने तक आने वाली रंगकर्मी भुखमरी की कगार पर पहुंच गए हैं। इस मौके पर बुंदेलखंड रंगकर्मी कल्याण समिति के अध्यक्ष सोबरन सिंह, प्रयाग नारायण दुबे गुरु उरगांव, कमलेश शुक्ला, दीपक पटेरिया, प्रेम किशोर, नवीन द्विवेदी, पप्पू महाराज, अतुल महाराज श्यामाचरण, राहुल योगी आदि मौजूद रहे।

घटतौली की शिकायत एसडीएम से की
जालौन। कोटेदार द्वारा घटतौली तथा खाद्य सामग्री के वितरण सही ढंग से न किए जाने व राशन कार्ड धारकों को धमकाने की शिकायत पीड़ित ग्रामीणों ने उपजिलाधिकारी से की। हीरापर निवासी नरेश कुमार सहित एक दर्जन ग्रामीणों ने उपजिलाधिकारी गुलाब सिंह को शिकायती पत्र देते हुए बताया कि उनके गांव का सरकारी राशन की सामग्री ग्राम रिनिया के कोटेदार सत्यनारायण पाठक के यहां से वितरण होता है। जब भी हम सब राशन सामग्री लेने जाते हैं तो वह परेशान करते हैं। इतना ही नहीं चना 1 किलो के स्थान पर 750 ग्राम तथा गेहूं और चावल में घटतौली करते हैं। इतना ही नहीं निर्धारित मूल्य से अधिक धनराशि भी वसूलते हैं जब हम इसका विरोध करते हैं तो कोटेदार का बेटा अपशब्दों का प्रयोग कर धमकी देता है।

सब रजिस्ट्रार दफ्तर में कमीशनबाजी का बोलबाला
जालौन। भ्रष्टाचार को रोकने के लिए प्रदेश सरकार लगातार प्रयास कर रही है तथा भ्रष्टाचारियों के खिलाफ कार्रवाई भी अमल में लाई जा रही है। इसके बाद भी स्थानीय सब रजिस्ट्रार कार्यालय में भ्रष्टाचार रुकने का नाम नहीं ले रहा तथा खुलकर कमीशनबाजी चल रही है। इसके बाद भी कमीशन लेने वालों के खिलाफ कार्रवाई नहीं हो रही हैं।
सरकार की भ्रष्टाचार के मामले में जीरो टोलरेंस की पोलसी को सब रजिस्ट्रार कार्यालय बट्टा लगा रहा है। कार्यालय में सरकार के निर्देशों को दर किनार कर खुलेआम भ्रष्टाचार चल रहा है। नाम ने छापने की शर्त पर बैनामा व रजिस्ट्री कराने वाले लोग बताते हैं कि कार्यालय में प्राइवेट कर्मचारी काम कर रहे हैं। इनके माध्यम से ही खुलेआम सरकारी कीमत के आधार पर आधा प्रतिशत कमीशन वसूल किया जा रहा है। कमीशन देने के बाद कम स्टाम्प लगाने वाले लोगों को अभय दे दिया जाता है जबकि कमीशन न देने वालों को स्टाम्प चोरी का भय दिखाया जाता है तथा कई लोगों को स्टाम्प चोरी के मामले में फंसा दिया जाता। उपजिलाधिकारी गुलाब सिंह के आने के बाद उम्मीद जगी थी कि एस डी एम आवास परिसर में संचालित सब रजिस्ट्रार कार्यालय में व्याप्त भ्रष्टाचार पर रोक लग जायेगी। किन्तु एक माह बीत जाने के बाद भी ऐसा नहीं हो पाया। कामरेड कमलाकांत वर्मा, समाजसेवी अशफाक राईन, समाजवादी नेता विनय श्रीवास्तव, सभासद सोमिल याज्ञिक ने जिलाधिकारी से मांग की है कि सब रजिस्ट्रार में सब रजिस्ट्रार के सह पर कार्यालय में लगे प्राइवेट कर्मचारियों द्वारा लिये जा रहे कमीशन पर रोक लगाई जाए।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126