भगवती मिश्रा-प्रभारी जालौन तहसील
आलू प्याज निश्चित दाम पर दिलाने के लिये खोला गया काउंटर
जालौन। प्याज की बढ़ी कीमतों से आमजनमानस को कुछ राहत दिलाये जाने को लेकर सरकार के दिशा निर्देश के तहत कृषि उत्पादन गल्ला मंडी में एक काउंटर लगाया गया। जहां पर प्याज एक निश्चित दाम पर मिलेगी। जिसका शुभारंभ मंडी सचिव ने किया। लगातार दिन प्रतिदिन बढ़ते हुये आलू प्याज के दामों से आज आम जनमानस परेशान होने लगा है और जिसको देखते हुये सरकार के दिशा निर्देश के तहत गुरुवार को कृषि उत्पादन गल्ला मंडी में एक काउन्टर लगाया गया। जिसमें प्याज के दामो को निर्धारित कर एक निश्चित दाम पर हर व्यक्ति को उपलब्ध कराया जाएगा जिसका शुभारंभ आज मंडी सचिव सर्वेश शुक्ला करते हुये बताया कि जनता के हित को ध्यान में रखते हुये गल्ला मंडी परिसर में एक काउन्टर लगाया गया जहां पर सरकारी कर्मचारी और प्याज 30 प्रति किलो मिलेगा। इस कार्य की कुछ समाजसेवियों ने जमकर सराहना की तो वही कुछ समाजसेवियों का कहना है कि सरकार द्वारा प्याज के काउन्टर को ठीक लगाया गया लेकिन इसी के साथ सरकार सब्जी का मुखिया कहा जाने वाले आलू पर भी अपना ध्यान केंद्रित करे जिससे गरीब लोगों को राहत मिल सके। और वह अपना पेट भर सके।
टेल तक पानी न पहुंचने से हजारों एकड़ जमीन पलेवा से वंचित
जालौन। किसान के खेतों की बुवाई का समय बीता जा रहा है लेकिन अभी भी टेल तक पानी न पहुंचने से हजारों एकड़ जमीन मैं पलेवा नहीं हो पा रहा है जी के चलते किसान बरगी का गीत परेशान नजर आ रहा है किसानों ने अपनी समस्या का निदान किए जाने को लेकर जिलाधिकारी से लगाई गुहार। विकासखंड के काफी गांव से पानी न मिलने के कारण अपने खेतों में नहीं कर पा रहे हैं जिसके कारण हजारों एकड़ जमीन पानी के अभाव में सूखी पड़ी ग्राम हरिपुरा बड़ौदा बुजुर्ग जागने का हरीपुर आदमपुर हाथरस जिला सतपुरा पर्वत पर गडेरना सदुपुरा पर समेत कई गांव ऐसे हैं जहां नहर का पानी नहीं पहुंचा जिससे भारी परेशानी का सामना करना पड़ा किसान रामाधार सारंगपुर प्रदीप मिश्रा सर पर नारायण मिश्रा बलवीर सिंह सुरेंद्र सिंह संजीव सिंह सहित किसानों का कहना है कि यदि नहर में पानी नहीं है अगर कहीं है तुम्हें तली में इंग्लिश में से कोई कंप्लेन चलने वाला है जिन किसानों के पास निजी ट्यूबवेल में पानी किसी तरह से काम चलाना पढ़ रहा है लेकिन नहर में पानी के अभाव में हजारों एकड़ जमीन से ही पड़ी है जिसके काम के साथ बुरी तरह से पढ़े और भुखमरी की कगार पर पहुंच गया है ग्राम हसना बजे के बाद सी मनोज पाठक नरेंद्र पाठक मुन्ना तिवारी आदि लोगों का कहना है जो इसने जी केवल सरकारी बिजली कनेक्शन के लिए बिजली विभाग में पैसा जमा किये है उन्हें परेशान किया जाता है।
भाकपा 18 को तहसील परिसर मे करेगी धरना प्रदर्शन
जालौन। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) प्रदेश व केंद्र सरकार की किसान विरोधी नीतियों और बढ़ते अपराधों को लेकर आगामी 18 नवंबर को तहसील परिसर में धरना प्रदर्शन करेगी। भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी (माक्र्सवादी) के जिला सचिव कमलाकांत वर्मा ने बताया कि हाल ही में केंद्र सरकार ने कृषि बिलों को पारित कराया है। जो पूंजीपतियों को लाभ दिलाने एवं किसानों की कमर तोड़ने वाले हैं। खाद, बीज व अन्य कृषि लागत बढ़ने से किसान बदहाल हैं। प्रदेश में भी कानून व्यवस्था पूरी तरह से फेल हो चुकी है। महिलाओं के खिलाफ अत्याचार के मामले लगातार बढ़ रहे हैं। माफियाओं के खिलाफ चलाए जा रहे अभियान में भी पक्षपात के आरोप लग रहे हैं। सरकार विरोधियों को डराया, धमकाया जा रहा है। इसको लेकर पार्टी आगामी 18 नवंबर को तहसील परिसर में धरना प्रदर्शन करेगी। इसके बाद कुदरा, करौंदी, गायर, हथेरी, हरदोई राजा, छिरिया सलेमपुर, औरैखी, धंतौली, धनौरा, उरगांव, कुसमरा आदि गांवों में अभियान चलाकर केंद्र व प्रदेश सरकार का पर्दाफाश किया जाएगा और आगामी चुनावों में तानाशाही दिखाने वाली सरकार को सबक सिखाया जाएगा।
एसडीएम से शिकायत कर चकरोड बनवाने की उठायी मांग
जालौन। सरकारी चकरोड को खोदकर खेत में मिला लेने एवं तार फेसिंग करा लेने से आगे खेत पर जाने वाले किसान परेशान हैं। पीड़ित किसानों ने एसडीएम को शिकायती पत्र देकर चकरोड बनवाने की मांग की है। तहसील क्षेत्र के ग्राम काशीपुरा निवासी किसान महिपाल, गोपीदास, कुंवरपाल, सुरेंद्र, रामनरेश, राकेश कुमार, देवीदीन, माता प्रसाद, मिथुन, प्रदीप आदि ने एसडीएम को शिकायती पत्र देकर बताया कि उनके खेत तक पहुंचने के लिए सरकारी चकरोड संख्या 172 स्थित था। लेकिन इस चकरोड के पड़ोसी किसानों ने उक्त चकरोड पर खोदकर अपनी जमीन में मिला लिया है। वर्तमान में चकरोड पूरी तरह नष्ट हो चुका है। साथ ही चकरोड पर कब्जा करने वाले किसानों ने तार फेसिंग भी करा ली है। ऐसी स्थिति में आगे के किसान अपने खेतों में नहीं पहुंच पा रहे हैं। इस समय खेती का काम चल रहा है लेकिन खेत पर न पहुंचने के चलते उनका समय बर्बाद हो रहा है। जब उक्त किसानों के खेत से निकलते हैं तो वह निकलने नहीं देते हैं। चकरोड की बात कहने पर झगड़े पर आमादा हो जाते हैं। पीड़ित किसानों ने एसडीएम से चकरोड की पैमाइश कराकर चकरोड को पुनः स्थापित कराने की मांग की है।
अतिरिक्त दहेज की मांग पूरी न होने पर पीड़िता से घर से निकाला
जालौन। दहेज की अतिरिक्त 50 हजार रुपये की मांग पूरी न होने पर पीड़िता को दहेज लोभियों ने मारपीट कर घर से किया बेदखल। पीड़िता ने मामले की तहरीर पुलिस में दी। पीड़िता शाइबीन पत्नी रिजवान मोहल्ला दब गरान ने पुलिस में शिकायत पत्र देते हुए बताया कि उसकी शादी रामपुरा निवासी रज्जाक खान के पुत्र रिजवान के साथ हुई थी। उसके पिता ने अपनी सामर्थ्य के अनुसार दान दहेज दिया था लेकिन शादी के कुछ दिन बाद ही उसके ससुर रज्जाक सास हसीना, आनंद सही बताता देवर राजू और उसके पति उससे 50000 की मांग करने लगे उसके पिता ने रुपए ना देने में अपनी असमर्थता व्यक्तित्व इससे नाराज उसके ससुराली जनों ने उसके साथ आए दिन अभद्र व्यवहार कर गाली गलौज करने लगे और उसे प्रताड़ित करने लगे इतना ही नहीं उक्त दहेज लोगों ने पीड़िता के साथ मारपीट कर उसे घर से बेदखल कर दिया जिसके काम है दर-दर भटक रही है पुलिस ने पीड़िता की शिकायत पर पति ससुर सास ननंद के खिलाफ मामला दर्ज कर जांच शुरू कर दी।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126