अखिल भारतीय ब्राम्हण महासभा की बैठक सम्पन्न
कालपी (जालौन) श्री आनन्दी देवी में अखिल भारतीय ब्राम्हण महासभा तथा परशुराम सेना की संयुक्त बैठक सम्पन्न हुई जिसका संचालन महामंत्री ज्ञानेंद्र मिश्रा ने किया।तथाअध्यच्छता राजेन्द्र द्विवेदी ने की।
बैठक में महासभा संरक्षक पंडित अशोक बाजपेई ने पिछली बैठक में किए गए प्रस्तावों पर चर्चा की ।र्जिसके अनुसार एक पांच सदस्यीय अनुशासन समिति का गठन किया गया। इसके बाद अध्यक्ष राजू पाठक के जिला प्रभारी बनने के बाद नये नगर अध्यक्ष पर चर्चा हुई जिसमें श्री बाजपेई ने कहा कि हम सबको मिलकर युवाओं को आगे लाना होगा और उन्हें अपने संरक्षण में संगठन को आगे बढ़ाने के लिए तैयार करना होगा। इसी के साथ बैठक में जो भी मुद्दे तय होंगे उन्हें क्रियान्वित भी करना होगा । महामंत्री ज्ञानेंद्र मिश्रा ने पिछली बैठक के प्रस्ताव पर चर्चा की गई जिससे तय हुआ कि दीपावली के बाद २० नवम्बर को सभी विप्र बन्धु राम-जानकी मंदिर टरनन गंज में प्रातः १० बजे पधारें जो नगर पालिका परिषद को नगर में परशुराम चोक के निर्माण की मांग का ज्ञापन देंगे।और पालिका परिषद में विप्र समाज के सभी सभासद अपने अपने पैड पर परशुराम चौक निर्माण का प्रस्ताव पालिका अध्यक्षा को प्रेरित करें और बोर्ड की बैठक में उक्त मांग का प्रस्ताव रखें।आज की बैठक में परशुराम सेना अध्यक्ष आदर्श मिश्रा तथा महामंत्री विवेक तिवारी के द्वारा नगर में सेना के वार्ड अध्यक्ष नियुक्त किए और उन्हें नियुक्ति पत्र सौंपा तथा उपस्थित वरिष्ठ विप्र जनों ने उनका माल्यार्पण कर स्वागत किया। बैठक मे प्रमुख रूप से हरिश्चंद्र दीक्षित बापू, राम कुमार तिवारी, रवि तिवारी, आशुतोष मिश्रा एडवोकेट, आनन्द शर्मा, आर एन शुक्ला, बृज गोपाल द्विवेदी, अशोक बाजपेई, अमन तिवारी, अंकित तिवारी, दीपू तिवारी, सुभाष द्विवेदी, राकेश तिवारी, दीपक तिवारी, अशोक कुमार बाजपेई, दीपक गोस्वामी, पंकज आदि लोग मौजूद रहे।
नगर पालिका द्वारा बनवाई गई दुकानों का लाभ गरीबों को नहीं मिल पाएगा
कालपी(जालौन): नगर पालिका कालपी द्वारा वन विभाग की नर्सरी के सामने करीब एक सैकड़ा दुकान बनवाए जाने का प्रस्ताव है। जिसमें कुछ दुकान बनकर तैयार भी हो चुकी हैं तथा 15 दुकानों की नीलामी 9 नवंबर को होनी है। जिसमें नगर पालिका द्वारा जो शर्तें रखी गई हैं उससे गरीब दुकानदार दुकान नहीं ले पाएंगे केवल पूंजी पति लोग ही इन दुकानों की नीलामी में हिस्सा ले पाएंगे।
नगर पालिका द्वारा प्रस्तावित दुकानों में से 15 दुकानों की नीलामी 9 नवंबर को होनी है जिसके लिए नगर पालिका द्वारा जिन सर्तो को रखा गया है उसमें गरीब एवं छोटे दुकानदार इन दुकानों में अपने कारोबार करने से वंचित रह जाएंगे। नगर पालिका द्वारा इन दुकानों की नीलामी हेतु सामान्य जाति के लोगों से 100000 सिक्योरिटी राशि तथा आरक्षित वर्ग से 50000 सिक्योरिटी राशि जमा करवाई गई है जिसमें लगभग 100 लोगों ने जमानत राशि नगर पालिका में जमा भी कर दी है। नगर पालिका ने यह भी तय किया है कि बोली 300000 रुपए से प्रारंभ की जाएगी इसके बाद जो ज्यादा बोली बोलेगा दुकान उसको आवंटित की जाएगी। नीलामी की बोली की राशि इतनी ज्यादा कर देने से सैकड़ों लोग जो काफी समय से नगर पालिका की इन दुकानों को लेकर अपना रोजी रोजगार करने का मन बनाए थे वह पैसे के अभाव में अब इन दुकानों को लेने में अक्षम साबित हो रहे हैं। कई गरीब व छोटे दुकानदारों ने बताया नगर पालिका केवल पूंजीपति या बड़े लोगों को जिनके पास पर्याप्त धन व व्यवसाय है उनको ही पैसे की दम पर दुकाने आवंटित करने जा रही है। हालांकि 15 दुकानों में एएस सी के लिए दो ओबीसी के लिए 3 तथा विकलांग के लिए एक दुकान आरक्षित की है लेकिन इन लोगों को भी जो ज्यादा बोली बोलेगा उसी को दुकान आवंटित की जाएगी जिससे आरक्षित श्रेणी में भी गरीब व कमजोर वर्ग के लोग दुकान आवंटित नहीं करा पाएंगे। नगर में इस बात की भी चर्चा जोरों पर है कि नगर पालिका के सक्षम अधिकारियों द्वारा पहले से ही ऐसी व्यवस्था कर रखी है जिसमें उनके चहेतों को ही नीलामी में दुकाने आवंटित की जा सके।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126