गणेश उत्सव के अवसर पर सार्वजनिक स्थानों पर मूर्ति स्थापना पर रहेगा प्रतिबंध

मध्यप्रदेश के उज्जैन में गणेश उत्सव एवं मोहर्रम के अवसर पर सार्वजनिक स्थानों पर मूर्ति स्थापना, चल समारोह, ताजियों के प्रदर्शन एवं जुलूस निकालने पर प्रतिबंध रहेगा। कलेक्टर एवं जिला दंडाधिकारी आशीष सिंह एवं पुलिस अधीक्षक मनोज सिंह ने गणेश उत्सव और मोहर्रम के त्यौहारों के दौरान कोविड-19 के संक्रमण को रोकने के लिये केन्द्र एवं राज्य सरकार द्वारा जारी निदेर्शों का पालन करते हुए सार्वजनिक स्थानों पर गणेश प्रतिमाओं की स्थापना, ताजियों की स्थापना, प्रदर्शन एवं चल समारोह निकालने पर रोक लगा दी है।
उन्होंने कहा कि बिना किसी भेदभाव के राज्य सरकार द्वारा जारी किये गये निदेर्शों का पालन करवाया जाये और शासकीय कायार्लयों में गणेश प्रतिमा की स्थापना नहीं की जाए। कलेक्टर ने कहा कि 22 अगस्त को गणेश चतुथीर् एवं 3० अगस्त को मोहर्रम का त्यौहार के मद्देनजर कानून व्यवस्था बनाये रखने के लिये भी सभी अधिकारी अपने-अपने क्षेत्रों में सतत निगरानी रखें।
उन्होंने कहा कि कोरोना वायरस के संक्रमण को रोकने के लिए गणेश उत्सव के दौरान सार्वजनिक रूप से मूर्ति की स्थापना एवं सामूहिक पूजा-अर्चना पर रोक रहेगी। लोग केवल अपने घरों में रहकर पूजन-अर्चन कर सकेंगे। इसी तरह मोहर्रम के अवसर पर जुलूस एवं ताजियों के प्रदर्शन तथा कत्ल की रात व मेहंदी की रात निकलने वाले जुलूसों के साथ ताजिये देखने के लिए लोगों के एकत्रित होने पर रोक लगाई गई है। ताजियों के घोड़े, अखाड़े, बुरार्क, दुलदुल, छबील आदि का प्रदर्शन नहीं होगा।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126