गौशाला की दुर्दशा पर द यंग भारत मे प्रसारित खबर का हुआ खासा असर

डिकौली गौशाला में गौवंशजो की जानलेवा दुर्गति पर गरमा गई सियासत
ग्रामीणों के पक्ष मे उतरे भाजपा जिलाध्यक्ष
भाजपा जिलाध्यक्ष ने मौके पर जाकर देखी स्थिति
उच्चस्तरीय जांच करवाने कि की घोषणा
हिन्दू संगठन व बजरंग दल ने किया आंदोलन का ऐलान
गौशाला में पहले थे 200 से अधिक गौवंशज, अब दर्जन भर में सिमट गई है संख्या
डीएम ने डीपीआरओ को जांच देकर मंगा ली है गौशाला की रिपोर्ट
 उरई: डिकौली स्थित माधौगढ नगर पंचायत के अधीन गौशाला पर अब राजनीति गरमा गई है। गोवंशों की लगातार खराब होती हालत और उनकी मौतों पर जनआक्रोश तो है ही। इसके साथ ही नगर पंचायत के खिलाफ जिला प्रशासन ने अपनाया सख्त रुख। वहीं प्रशासन का रुख गौशाला में गड़बड़ियां फैलाने वाले कर्मचारियों के विरुद्ध और कड़ा हो गया है। शुक्रवार को इस मामले ने और भी तूल पकड़ लिया जब सत्तापक्ष के जिलाध्यक्ष रामेंद्र सिंह बना खुद मौके पर पहुंचे और स्थिति का जायजा लिया।
गौशाला का निरीक्षण करने के बाद जिलाध्यक्ष रामेंद्र सिंह बना ने खामियों को देखकर उच्चस्तरीय जांच करवाने के बाद दोषियों के खिलाफ कार्रवाई की बात कही। जिलाध्यक्ष के पहुंचने की खबर पाकर ग्रामीण भी मौके पर आ गए और उन्होंने गौशाला की दुदर्शा की बात उन्हें बताई। कहा कि यहां पर करीब दो सैकड़ा गायें रखी गई थीं। आज यह हालत है कि आधा दर्जन से भी कम गायें बची हैं। जबकि गायों के नाम पर खर्चा पूरा निकाला जा रहा है। समय से खाना व इलाज न मिल पाने के कारण यह गायें मौत के मुंह में समा गईं। ग्रामीणों ने जिलाध्यक्ष से मांग की है कि इस मामले की निष्पक्ष जांच कराई जाए। वहीं जिलाध्यक्ष ने भी आश्वासन देते हुए कहा कि किसी भी निर्दोष को फर्जी मामले में नहीं फंसने दिया जाएगा। भाजपा की सरकार में निर्दोषों को जेल नहीं भेजा जाएगा।
हिन्दू संगठन व बजरंगदल भी आंदोलन की राह पर
गौशाला में तड़पते हुए जान दे रहे गौवंशों पर गौरक्षा आयोग से लेकर बजरंग दल के लोग आंदोलन की तैयारी में हैं। मनुराज तिवारी ने कल गौशाला में आकर सड़कों पर उतरने का बिगुल फूंक दिया। उन्होने कहा कि प्रशासन के जिम्मेदार निर्दोष युवकों को निशाना बनाकर उनकी आवाज दबाने के लिए मुकद्दमा लिखवा रहे हैं। जिसे कतई बर्दाश्त नहीं किया जाएगा।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126