घर से भागी बहू तो सास ने अपनी जीभ काटकर भगवान शंकर को चढ़ा दी

झारखंड ब्यूरो

झारखंड में सरायकेला-खरसावां जिले से एक चौंकाने वाला मामला सामने आया है। यहां के आदित्यपुर के आरआईटी थाना क्षेत्र के एनआईटी कैपस के अंदर बस्ती में रहने वाले एक परिवार की महिला ने अपनी जीभ काटकर बाबा भोलेनाथ के ऊपर चढ़ा दी है। बताया जा रहा है कि महिला की बहू घर से भाग गई थी। महिलो को विश्वास था कि ऐसा करने पर उसकी बहू घर वापस लौट आएगी।

मिली जानकारी के अनुसार, आदित्यपुर के आरआईटी थाना क्षेत्र के एनआईटी कैंपस में एक बिल्डिंग कंस्ट्रक्शन के ठेकेदार के पास काम करने के लिए दो साल पहले यह परिवार पहुंचा था। बताया जाता है कि नरदु निराला की पत्नी लक्ष्मी निराला भोले शंकर की भक्त है और वह झाड़-फूंक, पूजा पाठ, में विश्वास करती है। वह अपने बेटे शिवा निराला और बहू ज्योति निराला के साथ ही रहती है।

एक साल के बच्चे को लेकर घर से भाग गई बहू
2 दिन पहले बहू ज्योति निराला अपने एक साल के बच्चे को लेकर घर से भाग गई थी। जिसकी शिकायत परिवार वालों ने आरआईटी थाना में की, लेकिन बहू के नहीं मिलने से परिवार आहत था। इधर लक्ष्मी निराला ने अंधविश्वास में विश्वास रखने के कारण पूजा पाठ शुरू कर दिया। इसी अंधविश्वास पर भरोसा करके उसने रविवार को ब्लेड से अपनी जीभ काट कर भोले बाबा को चढ़ा दी।

अंधविश्वास- जीभ काटकर चढ़ाने से बहू वापस आ जाएगी
लक्ष्मी और उसके पति का मानना है कि भगवान शंकर पर जीभ काटकर चढ़ाने से उसकी बहू चंद दिनों में ही वापस आ जाएगी। लेकिन इस घटना से लक्ष्मी बुरी तरह से घायल हो गई। घटना की जानकारी मिलने पर मौके पर पहुंची आरआईटी पुलिस ने महिला को लहूलुहान हालत में एमजीएम अस्पताल में भर्ती कराया।

अस्पताल में भी भगवान की तस्वीर लेकर पहुंची महिला
बताया जा रहा है कि अस्पताल में भी लक्ष्मी अपने साथ भगवान शंकर की तस्वीर, कटी हुई जीभ और ब्लेड को लेकर आई थी। जीभ कटने के बावजूद लक्ष्मी को किसी तरह का दर्द का एहसास नहीं हो रहा था, जो अस्पताल में चर्चा का विषय बना हुआ था। एनबीटी डॉट कॉम इस तरह के अंधविश्वास की निंदा करता है और लोगों से इस तरह की घटनाओं से दूर रहने की अपील करता है।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126