चाचा ने अपने ससुराली जनों से करा दी भाभी और भतीजे की कुल्हाड़ी से काटकर निर्मम हत्या

पेड़ काटने को लेकर हुआ था विवाद

यही हाल रहा तो गोरखपुर का नाम बदलकर ‘गुनाहपुर’ करना पड़ेगा-अखिलेश

उत्तर प्रदेश के गोरखपुर में पेड़ काटने के विवाद में रविवार शाम मां-बेटे की पूरे गांव के सामने धारदार हथियार से गला काटकर हत्या कर दी गई। पुलिस ने इस केस में 8 लोगों को गिरफ्तार किया है। वहीं, इस घटना को लेकर सियासत भी शुरू हो गई है। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने ट्वीट कर गोरखपुर जिले का नाम बदलकर गुनाहपुर करने का सुझाव दिया है।

सुबह पेड़ काटने के विवाद से बिगड़ी बात
घटना जिला मुख्यालय से 50 किलोमीटर दूर गगहा थाना क्षेत्र के पोखरी गांव की है। गांव निवासी अरविंद दुबे और राजेश दुबे सगे भाई हैं। रविवार की सुबह अरविंद दुबे ने महुआ का एक पेड़ बेच दिया। पेड़ काटने के लिए मजदूर आ गए। मजदूर पेड़ काट ही रहे थे तभी मौके पर पहुंचे अरविंद के भाई राजेश ने पेड़ को अपने हिस्‍से में बताते हुए उन्‍हें रोक दिया। इस पर दोनों भाइयों के बीच झगड़ा शुरू हो गया। थोड़ी देर में मारपीट होने लगी। दोनों पक्ष अपनी-अपनी शिकायत लेकर थाने पहुंचे।

भाई की ससुराल से आए लोगों ने शाम को घटना को अंजाम दिया
पुलिस ने मारपीट में घायल तीन लोगों को प्राथमिक उपचार के लिए गगहा सामुदायिक स्‍वास्‍थ्‍य केंद्र पहुंचाया। लेकिन शाम करीब 5 बजे राजेश के ससुराल पक्ष के कुछ लोग पोखरी गांव पहुंचे। उन्‍होंने घर पर मौजूद अरविंद दुबे की 50 साल की पत्‍नी हेमलता, 23 साल के बेटे हर्ष को लाठी-डंडे और रॉड से पीटना शुरू कर दिया। इसके बाद फावड़े से वार कर उनकी हत्‍या कर दी। ये वारदात पूरे गांव के सामने हुई। पुलिस ने घटनास्थल से हत्या में इस्‍तेमाल किए गए फावड़े को बरामद किया और मुख्य आरोपी समेत 8 आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया।

गांव में पीएसी तैनात
गांव में तनाव को देखते हुए पीएसी तैनात कर दी गई है। एसएसपी जो‍गिन्‍दर कुमार ने भी घटनास्थल का मुआयना किया। पुलिस ने राजेश दुबे, उसके भतीजे, साले समेत 8 आरोपियों के खिलाफ गैंगस्‍टर के तहत कार्रवाई की है। सभी आरोपियों को जेल भेज दिया गया है।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126