जनाधिकार पार्टी ने राष्ट्रपति व राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन सौपा डीएम को

डीजल-पेट्रोल मूल्यवृद्धि वापस लेने की उठाई मांग

उरई (जालौन)। केंद्र व प्रदेश सरकार की जन विरोधी नीतियों, डीजल-पेट्रोल मूल्यवृद्धि को वापस लेने एवं भाजपा सरकार द्वारा पिछड़े वर्ग का आरक्षण समाप्त किये जाने के विरोध में जनाधिकार पार्टी के नेताओं ने आज सोमवार को कलेक्ट्रेट पहुंच कर राष्ट्रपति व राज्यपाल को सम्बोधित ज्ञापन जिलाधिकारी को भेंट किया।
जनाधिकार पार्टी के जिलाध्यक्ष डा. गयाप्रसाद कुशवाहा के नेतृत्व में रविन्द्र कुमार ओमरे प्रदेश महासचिव, नारायण सिंह कुशवाहा विधानसभा अध्यक्ष, दीपराज आदि ने कलेक्ट्रेट पहुंच कर राष्ट्रपति व राज्यपाल को सम्बोधित 11सूत्रीय मांगपत्र जिलाधिकारी को भेंट किया। जिसके माध्यम से मांग उठाई है कि डीजल-पेट्रोल के बढे़ हुए मूल्यों को वापस लिया जाये, अन्य वर्गों की तरह पिछड़े वर्ग के छात्रों को भी छात्रवृत्ति प्रदान की जाये तथा पूरे देश में शिक्षा ब्यवस्था एक समान की जाये और बेरोजगार नवयुवकों को रोजगार उपलब्ध करवाया जाये, किसानों को उनकी उपज का समर्थन मूल्य दिलाना सुनिश्चित किया जाये।इसके साथ ही पिछड़ों, दलितों और अल्पसंख्यकों की हत्याओं एवं उत्पीड़न को तत्काल रोका जाये। यह भी बताया कि विगत 16 जून को ग्राम इटहा थाना कुठौंद में दूध वाहन की टक्कर से मारे गये मृतक के परिजनों को राहत दिलाई जाये तथा ग्रामीणों के खिलाफ लगाये गये मुकदमों की जांच करवाकर समाप्त किये जायें।