जेडीसी सभापति ने अनैतिक कार्य करने का दबाव बनाया विकलांग पर

कार्य करने से मना किया तो दोबारा निलंबित कर दिया
विकलांग ने पत्नी और बच्चों के साथ मिलकर डीएम से की शिकायत

उरई (जालौन)। जेडीसी सभापति द्वारा अनैतिक कार्य करने के लिए दबाव बनाया। जब विकलांग ने कार्य करने से मना किया तो उसे दोबारा नौकरी से निलंबित कर दिया। आज पीड़ित विकलांग ने अपनी पत्नी और बच्चों के साथ कलेक्ट्रेट पहुंच कर जिलाधिकारी को शिकायती पत्र देकर न्याय की गुहार लगाई है।
विकलांग संतकुमार खाँगर ने डीएम को शिकायती पत्र देते हुए बताया है कि वह जालौन डिस्ट्रिक्ट कोआपरेटिव बैंक लि. उरई में सहयोगी (वर्ग-4) के पद पर कार्यरत है और वर्तमान शाखा एट में तैनात है। विकलांग संतकुमार का कहना है कि 15 जुलाई को मुख्य कार्यपालक अधिकारी के पत्र संख्या 583 के द्वारा इस आरोप में निलंबित कर दिया गया कि जो मुझे कार्य करने के लिए कहा जाता है तो मैं मना कर देता हूं एवं अभद्र भाषा बोलने का आरोप लगाया जो साक्ष्य विहीन तथा निराधार है। पीड़ित का कहना है वह पैरों से 50 प्रतिशत विकलांग है। इस लिए वह अपनी शारीरक क्षमता के अतिरिक्त जो भी कार्य दिया जाता है वह करता है। पीड़ित का कहना है कि वर्ष 2009 से उसके कार्यकाल में कोई आरोप नहीं लगाया गया है।पीड़ित का आरोप है कि चपरासी की नौकरी लगवाने के लिए पैसे भी दिये। इसके बाद अध्यक्ष के भतीजे द्वारा मारने तथा नौकरी से निकलवाने की धमकी दी जा रही है जिससे मेरा पूरा परिवार डरा और परेशान है। पीड़ित का आरोप है कि शयाम स्वरूप मिश्रा जो वर्तमान में संचालक है प्रतिदिन मुझसे शराब पीने के लिए पैसे मांगा करते है तथा सभापति के नजदीक होने की धमकियां भी देते रहते है। पीड़ित का आरोप है कि सभापति ओमकार ठाकुर के ऊपर झूठा मुकदमा दर्ज करवाये जाने का दबाव बना रहे है। और कहते कि अगर ओमकार ठाकुर के खिलाफ मुकदमा दर्ज नहीं करवाया तो तुझे भी परेशानी में डाल देगे और तुझे भी फर्जी मुकदमे में फसवा कर जेल भिजवा देगें। पीड़ित ने बताया कि अध्यक्ष व ओमकार ठाकुर में राजनैतिक विरोध चल रहा है।यहीं वजह है कि मेरे ऊपर दबाव बनाकर अध्यक्ष ओमकार ठाकुर के खिलाफ फर्जी मुकदमा दर्ज करवाने का प्रयास कर रहे है। पीड़ित ने अपने शिकायती पत्र में लिखा है कि अगर प्रशासन के द्वारा उसे न्याय नहीं मिला तो वह अपने परिवार सहित आत्मदाह करने के लिए मजबूर होगा।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126