डीएम की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति की बैठक हुई

उरई (जालौन)। जिलाधिकारी डाॅ. मन्नान अख्तर की अध्यक्षता में जिला स्वास्थ्य समिति (शासी निकाय) की बैठक विकास भवन सभाकक्ष में सम्पन्न हुई। बैठक में मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. अल्पना बरतारिया द्वारा पिछले माह बैठक की कार्यवृत्त के बारे में अवगत कराया। बैठक में जिलाधिकारी द्वारा माह अगस्त 2020 के प्रगति की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान उन्होने कार्यक्रमवार वित्तीय प्रगति की समीक्षा, कोविड खर्चे का विवरण, इकाईबार जेएसवाई भौतिक प्रगति जून 2020, आरसीएच पोर्टल की भौतिक प्रगति माह अगस्त 2020 तक की समीक्षा, इलेजिबल कपल, प्रेग्नेन्ट वूमेन, इन्फेन्ट, पंजीकृत महिलाओं की प्रथम तिमाही स्थिति, घरेलू प्रसव सम्बन्धी सूचना, संस्थागत प्रसव सम्बन्धी सूचना, 48 घण्टे के अन्दर घर भेजा गया की सूचना, एचबीएनसी विजिट सम्बन्धी सूचना, जन्म सम्बन्धी सूचना, 2.5 किलोग्राम से कम संबंधी सूचना, मृत जन्म स्थिति, विटामिन की सूचना, शिशु प्रतिरक्षण कार्यक्रम, पूर्ण प्रतिरक्षण कार्यक्रम, चार या चार से अधिक एएनसी चेकअप की स्थिति, चार या चार से अधिक एचबी टेस्ट गर्भवती महिलाओं की संख्या, घरेलू प्रसव प्रथम पोस्ट पार्टम चेकअप सम्बन्धी सूचना, पुरूष नसबंदी, परिवार कल्याण कार्यक्रम समीक्षा, गर्भवती महिलाओं की एचआईवी जाॅच की स्थिति, मातृ मत्यु समीक्षा, शिशु मातृ समीक्षा, आयुष्मान भारत कार्यक्रम की समीक्षा, राष्ट्रीय क्षय उन्मूलन कार्यक्रम प्रगति रिपोर्ट 01 जनवरी से 31 अगस्त 2020 तक, कम्युनिटी प्रोसिस के अन्तर्गत विभिन्न गतिविधियों की समीक्षा- आशा प्रोत्साहन राशि की दशा, रोगी कल्याण समिति बैठक व व्यय विवरण की स्थिति, उपकेन्द्र अन्टाईड खातों की स्थिति, रोग कल्याण समिति की व्यय रिपोर्ट, होम बेस्ट न्यूबार्न केयर कार्यक्रम, वीएचएसएनसी गठन की सूचना आदि के बारे मे जिलाधिकारी द्वारा बिन्दुवार समीक्षा की। समीक्षा के दौरान उन्होने सभी सामुदायिक एवं प्राथमिक स्वास्थ्य केन्द्रों के प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों/चिकित्सा अधिकारियो के उनके कार्यो की प्रगति की समीक्षा की तथा कार्याे में तेजी लाये जाने के निर्देश दिये। बैठक में स्वास्थ्य केन्द्रों के भवनों तथा रख रखाव पर चर्चा की गयी जिस पर संबंधित चिकित्सा अधिकारी द्वारा कुछ समस्याये रखी जिस पर जिलाधिकारी महोदय द्वारा कहा गया कि जो भी समस्याये हो उसे लिखित रूप से अवगत कराये। जिलाधिकारी द्वारा आज की बैठक में सभी प्रभारी चिकित्सा अधिकारियों/चिकित्सा अधिकारियो को सख्त निर्देश देते हुये कहा कि यदि उनके द्वारा मरीजों के साथ शिथिलता एवं लापरवाही तथा उन्हे इस अस्पताल से उस अस्पताल में भेजने की प्रक्रिया के दौरान मरीजों के साथ किसी प्रकार की दुर्घटना हो जाने पर संबंधित चिकित्सक या उनके स्टाफ के विरूद्व मुकदमा दर्ज कर कड़ी कार्यवाही की जायेगी। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त कुमार श्रीवास्तव, अपर जिलाधिकारी प्रमिल कुमार सिंह, मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. अल्पना बरतारिया, अपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी डाॅ. सत्यप्रकाश, क्षेत्राधिकारी सदर सन्तोष कुमार, समस्त सीएससी एवं पीएससी के चिकित्सा अधिकारी एवं प्रभारी चिकित्सा अधिकारी सहित संबंधित विभागो के अधिकारी मौजूद रहें।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126