डीएम की अध्यक्षता में विकास भवन में हुई समीक्षा बैठक

उरई (जालौन)। उ. प्र. विकास हेतु शासन द्वारा निर्धारित 71 प्रपत्रों एवं मुख्यमंत्री के विकास प्राथमिकता कार्यक्रम से सम्बन्धित 18 बिन्दुओं पर माह जुलाई 2020 की समीक्षा बैठक जिलाधिकारी डाॅ. मन्नान अख्तर की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में सम्पन्न हुई। बैठक में समस्त अधिकारियों द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग एवं मास्क के प्रयोग का अनुपालन किया गया। बैठक में जिलाधिकारी महोदय द्वारा सर्वप्रथम सिंचाई विभाग के अतिक्रमण सम्बन्धित शिकायतों पर क्या कार्यवाही की गयी तथा उसके निस्तारण की जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा बताया गया कि शिकायतों का निस्तारण किया जा रहा हैं। जिलाधिकारी महोदय द्वारा नालों की सफाई तथा पानी की उपलब्धता की जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा बताया गया कि नालों की सफाई की जा चुकी है तथा पानी की उपलब्धता पर्याप्त हैं। जिलाधिकारी महोदय द्वारा अवैध खनन के विरूद्व क्या कार्यवाही की गयी है उसकी जानकारी चाही गयी जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा बताया गया कि अवैध खनन के विरूद्व का कार्य कार्यदायी संस्थाओं द्वारा किया जाना है जिसे अवगत कराया जा चुका हैं। जिलाधिकारी महोदय द्वारा गौवंशों के गौशालाओं में संरक्षित किये जाने के संबंध में जानकारी की तथा यह भी जानकारी की कि अभी तक कितने गौशालाओं में गौवंश संरक्षित किये गये है जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा बताया गया कि गौवंशों को गौशालाओं में संरक्षित किये जा रहे है। उन्होने गौशालाओं तक आने जाने के रास्ते को ठीक कराये जाने के भी निर्देश दिये। जिलाधिकारी महोदय द्वारा स्वास्थ्य विभाग की समीक्षा के दौरान आयुष्मान भारत योजना तथा गोल्डन कार्ड बनाये जाने के प्रगति की जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा विस्तार से अवगत कराया गया। जिलाधिकारी द्वारा जिला पंचायत राज अधिकारी से उनके विभागों के कार्याे की प्रगति की समीक्षा की जिस पर जिला पंचायत राज अधिकारी द्वारा अवगत कराया गया। उन्होने प्रधानमंत्री शहरी आवास योजना द्वारा आवासों के निर्माण की प्रगति की समीक्षा की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा बताया गया कि लक्ष्य के सापेक्ष निर्माण कार्य किये गये हैं तथा अवशेष कार्य शीघ्र कार्य पूर्ण कर लिये जायेगे। जिलाधिकारी महोदय द्वारा स्वयं सहायता समूह की महिलाओं के प्रशिक्षण तथा उन्हे रोजगार दिये जाने की भी जानकारी की जिस पर उपायुक्त एन.आर.एल.एम. द्वारा बताया गया कि स्वयं सहायता समूह की महिलाओं को प्रशिक्षण कराकर उनके कार्य के अनुरूप रोजगार दिया जाता हैं। जिलाधिकारी महोदय द्वारा पाईप पेयजल योजना की समीक्षा के दौरान ग्रामीणों में कितने कनेक्शन दिये गये है तथा कितने अभी अवशेष है जिस पर बताया गया कि 480 कनेक्शन दिये गये है तथा जो भी कनेक्शन लेने हेतु आवेदन प्राप्त होता है उस पर शीघ्र कनेक्शन दिये जाने की कार्यवाही की जाती हैं। उन्होने लोक निर्माण विभाग की समीक्षा करते हुये जानकारी की कि कितने सड़कों का निर्माण तथा चैड़ीकरण का कार्य किया जाना है जिस पर अधिशाषी अभियन्ता द्वारा बताया गया कि सड़कों के निर्माण एवं चैड़ीकरण का कार्य प्रगति पर है तथा कुछ सड़कों की पुलिया पर निर्माण किया जाना है वह शीघ्र पूर्ण कर ली जायेगी। जिलाधिकारी महोदय द्वारा कोटरा वाले ब्रिज के निर्माण की प्रगति की समीक्षा की जिस पर अधिशाषी अभियन्ता सेतु निगम द्वारा बताया गया कि निर्माण कार्य चल रहा है लगभग 06 माह में कार्य पूर्ण कर लिये जायेगे। उन्होने विधुत विभाग की समीक्षा की। समीक्षा के दौरान उन्होने ट्रांसफार्मर अधिक खराब पाये जाने पर नाराजगी जाहिर की और कहा कि इतनी जल्दी ट्रांसफार्मर खराब नही होना चाहिये ट्रांसफार्मर खराब होने के कारण विधुत आपूर्ति में बाधा उत्पन्न होती है उन्होने ऐसी समस्या को ठीक कराये जाने के निर्देश दिये। उन्होने प्रधानमंत्री किसान सम्मान निधि योजना तथा फसल बीमा योजना आदि की प्रगति के बारे में भी जानकारी की जिस पर संबंधित अधिकारी द्वारा विस्तार से अवगत कराया गया। जिलाधिकारी महोदय द्वारा प्रधानमंत्री सड़क योजना के कार्यो में आये हुये शिकायतों तथा उसके निस्तारण की भी जानकारी की तथा यह भी निर्देशित किया कि जो भी शिकायते होे उसका शीघ्र निस्तारण किया जाये। उन्होने अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका उरई के द्वारा पार्को के निर्माण की प्रगति की जानकारी की जिस पर बताया गया कि तीन पार्क निर्माण किया जाना था जो 02 पूर्ण कर लिये गये है तथा 01 पर कार्य चल रहा है जो शीघ्र पूर्ण कर लिया जायेगा। जिलाधिकारी महोदय द्वारा इस प्रकार सभी विभागों की उनके प्रगति की बिन्दुवार गहन समीक्षा की। समीक्षा के दौरान जिन विभागों की प्रगति धीमी पायी गयी उन पर नाराजगी व्यक्त करते हुये कार्यो की प्रगति में तेजी लाये जाने के कड़े निर्देश दिये। इस अवसर पर मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त कुमार श्रीवास्तव, उप निदेशक कृषि आर. के. तिवारी, उपायुक्त मनरेगा अवधेश दीक्षित, उपायुक्त एनआरएलएम अशोक गुप्ता, जिला अर्थ एवं संख्याधिकारी प्रदीप कुमार सहित समस्त जिला स्तरीय अधिकारी मौजूद रहे।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126