दलदल में तब्दील हुआ रास्ता, कैसे निकलें लोग

उरई (जालौन)। कोंच एसआरपी इंटर कॉलेज के पास स्थित नर्सरी का रास्ता नहीं बनने से वहां भीषण दलदल बन गई है जिससे लोगों को वहां से निकलने में भारी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। नर्सरी के उस तरफ तमाम घर बने हैं और सैकड़ों की आबादी वहां निवास करती है जिसे काम धंधे और रोज की जरूरतों को पूरा करने के लिए रोजाना दलदल से गुजर कर आना जाना पड़ता है लेकिन पालिका ने आज तक उसकी सुधि नहीं ली है जिससे लोगों में गुस्सा है।
गौरतलब है कि एसआरपी इंटर कॉलेज के पास वन विभाग की नर्सरी है जिसके बीचोंबीच का रास्ता कच्चा है। नर्सरी के दक्षिण में सटा हुआ मलंगा नाला है और मलंगा नाले के दूसरी तरफ सैकड़ों की संख्या में घर बने हैं जहां तमाम आबादी रहती है। इसके अलावा सिंह वाहिनी मंदिर, काली जी मंदिर और मोक्षधाम के लिए भी लोग उसी रास्ते का उपयोग करतेे हैं। वहां की आबादी केे अलावा अन्य लोगों के निकलने के लिए एकमात्र यही नर्सरी बाला कच्चा रास्ता है। इलाकाई लोग लंबे अरसे से उक्त रास्ते के निर्माण की मांग करते आ रहे हैं लेकिन पालिका प्रशासन ने आज तक उनकी मांग पर कान नहीं दिए हैं जिसके चलते नागरिकों को भारी मुसीबत से जूझना पड़ रहा है। नागरिकों उदयसिंह, सुघरसिंह, पवनकुमार, माताप्रसाद, हरिबाबू, अवधेश, हरिओम, रामानंद मास्टर, प्रेम सिंह, उमाचरण आदि का कहना है कि पूर्व पालिकाध्यक्षा विनीता सीरौठिया के कार्यकाल में मलंगा नाले पर पुल का निर्माण करा दिया गया था जिससे लोगों को काफी राहत हो गई है, लेकिन नर्सरी बाला रास्ता अभी भी कच्चा होने की बजह से बारिश के मौसम में यह रास्ता दलदल में तब्दील हो जाता है और वहां से गुजरने वाले लोगों को भारी दिक्कत का सामना करना पड़ता है इसके बाद भी पालिका परिषद द्वारा सड़क निर्माण नहीं करवाया जा रहा है।