दलित युवती की बहुचर्चित आत्महत्या प्रकरण में आरोपी दरोगा योगेश पाठक लाइन हाजिर- आईजी झाँसी

आईजी झाँसी रेंज- सुभाष सिंह बघेल

शुक्रवार को चोरी के आरोप में चार युवतियों को 11 बजे रात तक चौकी में बिठाने और प्रताड़ित करने का है आरोप

अपमान से छुब्ध युवती ने शनिवार को भोर में फांसी लगाकर कर ली थी आत्महत्या

समूचे प्रकरण की जांच ए.एसपी को सौंपी

प्रधानसम्पादक- संजय श्रीवास्तव

उरई(जालौन): सब्जी मंडी में स्थित चांद मोबाइल की दुकान पर शुक्रवार को 4 युवतियों ने पहुंचकर मोबाइल फोन खरीदने की बात कहकर कई मोबाइल देखे और जाने लगीं। तभी दुकान के मालिक चांद ने एक युवती पर मोबाइल चोरी करने का आरोप लगा दिया। इस पर दोनों पक्षों के बीच खासी तू-तू मैं-मैं हुई। चांद ने फोन करके पुलिस चौकी के प्रभारी योगेश पाठक को बुला लिया। चौकी प्रभारी चारों दलित युवतियों को पुलिस चौकी लिवा ले गए और चौकी में रात 11 बजे तक युवतियों को बिठाए रखा। आत्महत्या करने वाली युवती के पिता ने एसपी को लिखित शिकायत देकर बताया कि दरोगा योगेश पाठक ने उनकी 21 वर्षीय पुत्री को देर रात तक गैर कानूनी ढंग से चौकी में बिठाये रखा और मोबाइल चोरी के झूठे आरोप में उसको बहुत प्रताड़ित किया। जिस कारण अपमान से छुब्ध होकर उनकी युवा पुत्री ने शनिवार को भोर में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली। इस प्रकरण की जानकारी मिलते ही पुलिस के विरोध में माहौल गरमा गया। बसपा जिला अध्यक्ष संजय गौतम के नेतृत्व में शनिवार की दोपहर खासी भीड़ कोतवाली में जमा हो गयी और मुकदमा लिखकर दरोगा को बर्खास्त करने की मांग करने लगी। यही नहीं मोबाइल दुकान के मालिक चांद और उसके चार साथियों के विरुद्ध लड़कियों के साथ छेड़खानी के आरोप में मुकदमा दर्ज करने की भी मांग उठाई गई।

घटना की सूचना मिलते ही रविवार की सुबह झाँसी से चलकर उरई पहुंचे आईजी रेंज सुभाष सिंह बघेल ने पुलिस अधीक्षक डॉ. यशवीर सिंह से मंत्रणा की, पीड़ित पक्ष के लोगों की बात सुनी। उन्हें सांत्वना देते हुए आईजी श्री बघेल ने तत्काल प्रभाव से आरोपी दरोगा योगेश पाठक को लाइन हाजिर कर दिया। तथा सम्पूर्ण प्रकरण की जांच जनपद के ए.एसपी डॉ. अवधेश सिंह को सौंप दी। आईजी श्री बघेल ने यंग भारत के प्रधानसम्पादक को बताया कि एसपी की देखरेख में ए.एसपी प्रकरण की जांच करेंगे। उनकी रिपोर्ट में जिसे दोषी पाया जाएगा। उन सभी के विरुद्ध विधि सम्मत कार्यवाही की जाएगी।

आईजी सुभाष सिंग बघेल के तत्काल उरई आकर त्वरित एक्शन ले लेने से पीड़ित पक्ष को भी तसल्ली हो गयी है। और जिला मुख्यालय में बन रहे पुलिस विरोधी माहौल पर अब विराम लग गया है।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126