दुर्गेश हत्याकांड में खुलासा, नौकरी लगवाने के नाम पर धोखाधड़ी करता था हिस्ट्रीशीटर

पीजीआई थाना क्षेत्र में बुधवार को दुर्गेश की हुई थी हत्या

पुलिस ने दुर्गेश के चार साथियों को गिरफ्तार कर मामले का किया खुलासा

हत्यारोपी महिला से भी ऐंठे 27 लाख, 4 गिरफ्तार

राजधानी लखनऊ के पीजीआई थाना क्षेत्र स्थित वृंदावन कॉलोनी के सेक्टर 14 में बुधवार सुबह गोरखपुर के हिस्ट्रीशीटर दुर्गेश की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। इस मामले की परतें अब खुलने लगी हैं। लखनऊ पूर्वी उपायुक्त चारू निगम ने गुरुवार को मृतक दुर्गेश बेरोजगारों से ठगी करता था। हत्यारोपी महिला पलक ठाकुर ने अपनी नौकरी लगवाने के लिए दुर्गेश को 27 लाख रूपए दिए थे। पुलिस ने इस मामले में दुर्गेश के 4 साथियों को भी गिरफ्तार किया है।