दोस्त ने ली दोस्त की जान, वजह जानकर हो जाएंगे हैरान

कानपुर: कानपुर के थाना नवाबगंज क्षेत्र में प्रॉपर्टी डीलर की हुई हत्या का मामला पुलिस ने सुलझा दिया है. पुलिस ने बताया कि हत्या उसके दो दोस्तों ने ही की थी. पुलिस ने मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है, जबकि अभी दूसरा साथी फरार चल रहा है. पुलिस ने हत्या में प्रयोग किए जाने वाले हथियार को भी मौके से बरामद किया है.
खून से सना मिला था शव
पुलिस को कुछ दिन पहले बिठूर के मंधना से गंगा बैराज मार्ग पर खून से सना शव मिला था. पुलिस ने शव की पहचान मुकेश रावत के रूप में की थी. मृतक हिस्ट्रीशीटर होने के साथ प्रॉपर्टी डीलर का काम भी करता था. मृतक जब घर से लापता था तो उसकी पत्नी ने थाना नवाबगंज में इसकी सूचना दी थी, लेकिन अगले दिन उसका शव खून से सना प्लॉट के पास मिल गया. परिजनों ने बताया कि मुकेश अपने दो दोस्त अरुण और अमित के साथ निकला था. इसके बाद पुलिस ने दोनों की तलाश शुरू की. सर्विलांस टीम की मदद से बिठूर पुलिस ने अरुण को दबोच लिया. पुलिस के सख्ती से पूछताछ करने के बाद आरोपी ने बताया कि हम तीनों दोस्त साथ में बैठकर शराब पी रहे थे. तभी किसी बात पर हम लोगों में कहासुनी हो गई और मारपीट होने लगी. उसी मारपीट का बदला लेने के लिए उसने पीट-पीट पर अपने दोस्त मुकेश को मौत के घाट उतार दिया. पुलिस ने मामला दर्ज करके आरोपी को जेल भेज दिया है और उसके साथी की तलाश में जुट गई है.
थप्पड़ के बदले दोस्त ने दी मौत
आरोपी अरुण कुमार ने बताया कि रोहित ने उसको सरेआम थप्पड़ मारा था और गाली गलौज कर बेइज्जत किया था. अरुण ने बताया कि उस वक्त उसकी बहुत बेइज्जती हुई थी. उसने बताया कि वह मुकेश को जान से मारना नहीं चाहता था, लेकिन नशे की हालत में उसकी जान चली गई.
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126