दो दिन से रुक रुक कर हो रही बारिश से किसानों ने ली राहत की सांस

यमुना के बढ़ते जलस्तर ने बढ़ाई प्रशासन की चिंता

उरई (जालौन)। कालपी तहसील क्षेत्र में लगातार हो रही बारिश से लोगों को गर्मी से राहत मिली वहीं किसान की चिंतायें भी कम हुई।
बताते चलें कि बुन्देलखण्ड के जनपद जालौन में अधिकांश क्षेत्र असिंचित है यहां का अधिकांश किसान भगवान की कृपा पर आधारित है अगर समय से पर्याप्त बर्षा हो गई तो ही फसल हो पाती है ।इस बर्ष औसत से काफी कम वर्षा हुई जिसके चलते बोई गई खरीब की फसल में ज्वार बाजरा तिल मूंग आदि पर विपरीत प्रभाव पड़ रहा था जिसके चलते किसानों को चिंतित देखा जा रहा था परन्तु पिछले दो दिनों में मोसम नें करवट बदली और कभी कम कभी ज्यादा लगातार पानी बरसने से पुनः फसलों ने सीना तान लिया है जिसे देखकर किसान भी राहत भरी सांस ले रहा है और उम्मीद कर रहा है बाढ़ न आये तो काफी हद तक सही पैदावार हो जायेगी। वहीं यमुना पट्टी के गांव मदरा लाडपुरा से लेकर रायड़, मदारपुर, देवकली, हीरापुर, मैनूपुर, गुढ़ा, पड़री, नरहान दहेलखंड आदि गांवों के किसानों के दो दिनों से बढ़ रहे यमुना के जल स्तर से दिल के किसी कोने में हल्की सी चिंता बनी हुई है। क्योंकि पिछले साल आई यमुना की भारी बाढ़ ने इन गांवों के किसानों की सारी फसल निगल ली थी। कहीं फिर से मां यमुना वही रोद्र रुप धारण न करले । फिलहाल शासन प्रशासन ने यमुना किनारे बसे गांव के ग्रामीणों को सचेत कर दिया है साथ ही इन गांवों में बाढ़ राहत चौकियों को भी अलर्ट कर दिया है।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126