दो पुत्रों ने जमीन के लालच में कराई अपने पिता की हत्या

 50 हजार रुपए में दी थी सुपारी

पुलिस ने हत्यारे के पैर में गोली मारकर किया गिरफ्तार

वारदात के बाद दोनों हत्त्यारोपी पुत्र भी गिरफ्तार किए गए

उत्तर प्रदेश में इटावा जिले के थाना बकेवर क्षेत्र में 6 अगस्त को किसान जगमोहन की बाइक सवारों ने गोली मार कर हत्या कर दी गई थी जिसके बाद इलाके में दिन दहाड़े हत्त्या से सनसनी फैल गई थी। जिसके बाद मौके पर पहुंची पुलिस ने दो जांच टीम गठित कर कार्यवाही शुरू की थी।

जिले के थाना बकेवर क्षेत्र के घहसीना क्षेत्र में साइकिल सवार जगमोहन को उनके 2 पुत्रों ने अपने एक साथी को 50हजार की सुपारी देकर पिता को सिर्फ इसलिए मरवा दिया क्योंकि पिता दोनों पुत्रों के नाम जमीन नही कर रहे थे। जिसके बाद दोनों पुत्रों ने पिता की हत्या करने के लिए अपने साथी को पिता को मारने के लिए 50 हजार की सुपारी देकर उनकी दिन दहाड़े हत्त्या करवा दी।

पूछताछ के दौरान सच्चाई सामने आई
क्षेत्राधिकारी चंद्रपाल ने बताया पुलिस मुठभेड़ में घायल अभियुक्त से घटना के सम्बन्ध में पूछताछ करने पर अभियुक्त द्वारा बताया गया मृतक अपने पुत्रों को न तो जमीन में हिस्सा दे रहा था और न हीं जमीन का बटवारा कर रहा था जिससे परेशान होकर दोनों बेटों ने मिलकर अपने ही पिता की हत्या की योजना बनाई। घटना वाले दिन मृतक जगमोहन सिंह भदौरिया का छोटा बेटा धर्मेंद्र, मैं और मृतक के बडे़ बेटे देवेन्द्र भदौरिया से मिलने आये थे।

बेटी के यहां से लौटते हुए की गई बुजुर्ग की हत्या
वहीं पुलिस के मुताबिक उसने बताया कि हमारे पिताजी हमारी बहन के घर गये हैं। वहां से वापस लौटेंगे उसके उपरान्त योजना बनाकर अपने ही पिता की हत्या करने के लिये 50000 रुपए देने की बात हुई थी। इसके बाद हम लोग मेरी पल्सर मोटर साइकिल से धर्मेंद्र भदौरिया को लेकर वहां से निकले इस दौरान धर्मेंद्र मोटर साइकिल चला रहा था। मैंने जगमोहन भदौरिया की घर लौटते समय हत्या कर दी थी। आज मैं धर्मेंद्र भदौरिया के साथ उसके घर अपने 50000 रुपए लेने चोरी की पल्सर मोटर साइकिल से जा रहा था। इसी दौरान पुलिस टीम ने मुझे गिरफ्तार कर लिया गया तथा धर्मेंद्र भदौरिया मौके से भाग गया

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126