धनतेरस के उत्साह में कोरोना को भूले लोग

प्रतीकात्मक तस्वीर

बाजार में खरीददारी को उमडा जन सैलाव
सोशल डिस्टेंस तो दूर मास्क तक नही दिखे चेहरों पर
उरई(जालौन)। अब इसे लोगो का त्योहार का उत्साह कहें या फिर घोर लापरवाही कि जिस तरह से देश और प्रदेश की सरकारें बढते कोरोना संक्रमण को लेकर हर दिन लोगो को सर्तकता बरतने की हिदायते देने में कोई कसर नही छोड रही तो वही लोग है कि उन पर इन बातों का अब कोई असर होता नजर नही आ रहा है। आज दिन भर नगर के बाजारों का जो हाल रहा वह कम चिंताजनक नही कहा जा सकता लोग सारी हिदायतों को तांक पर रख धनतेरस की खरीददारी में मशगूल नजर आये बहरहाल अब कोरोना के संक्रमण की लोगो को कतई परवाह नही दिख रही।
अनलाक के हालात में सबसे अधिक चिंताजनक बात यह देखने को मिल रही है कि लोगो ने कोरोना संक्रमण के भय को अपने जेहन से निकाल दिया है जो कि बेहद ही डरावने वाली तश्वीरें दिखला रही है आज धनतेरस के दिन नगर के बाजारों में दौपहर बाद से ही लोगो की भीड जुटना शुरू हो गयी जो कि शाम होते ही जन सैलाव के रूप् में नजर आयी हालत यथी कि नगर के अधिकांश बाजारों में लोग पूरी तरह से वे परवाह नजर आये इक्का दुक्का छोडकर बडी तादात में लोगो को सोशल डिस्टेंस की धज्जियां उडाते देखा गया यही नही मास्क को लेकर भी लोग उदासीन दिखें दुकानदारों की भी कमोवेश यही स्थिति देखने को मिली। बताते चले कि बीते कुछ दिनों से देश के कई राज्यों में कोरोना पाजीटिव मामलों की संख्या में खासा इजाफा देखने को मिल रहा है समीपस्थ दिल्ली और गाजियाबाद जैसे शहरों के आंकडे भी चिंताजनक बने हुये है कमोवेश देश के अन्य कई शहरों में भी संक्रमित मरीजों के आकडक में अभी तक ग्राफ की स्थिति में कमी नही देखी गयी है बबजूद इसके लोगो की लापरवाही का बढना गंभीर चिता का विषय बनता जा रहा है जानकारों की माने तो कोरोना संकमण से दुरूस्त होने वालों की स्थिति तो काफी संभल गयी है लेकिन उसके संक्रमण की रफतार अभी भी तेजी पकडे है ऐसे में जब तक वैक्सीन तैयार होकर आम लोगो तक नही पहुंच जाती तब तक सोशल डिस्टेंस और सर्तकता के अन्य सभी बातों पर पूरी तरह से अमल में लाना जरूरी है। जरा सी भी चूक गंभीर संकट में डाल सकती है।
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126