पंप आपरेटरों ने पंजीकरण के लिए लगाई गुहार, दिया ज्ञापन

उरई। जनपद में जल संस्थान के द्वारा कई वर्षों से पंप आपरेटरों को कार्य के लिए रखा गया है लेकिन अभी तक उनके पंजीकरण नहीं हुए हैं जिसको लेकर जनपद के अलग अलग तहसील से पंप आपरेटर मुख्यालय पर इकट्ठा हुए और जनपद के आलाधिकारियों के दरवाजे खटखटाए और अपनी पीड़ा बताई।
पंप आपरेटरों ने बताया कि उन लोगों को ठेकेदार के द्वारा दो से तीन हजार तक का मानदेय दिया जाता है लेकिन उनको एेसा कोई भी एेसा सबूत नहीं दिया गया है जिससे वह यह कह सकें कि वह जल संस्थान में कार्यरत हैं जबकि कोरोना जैसी महामारी में उन्होंने जीजान से मेहनत की है लेकिन अभी तक कोई भुगतान नहीं हुआ है जिसकी वजह से वह भूखों मरने की कगार पर हैं जिसकी वजह से पंप आपरेटरों ने मिलकर जिलाधिकारी के यहां जाकर ज्ञापन सौंपा। इस मौके पर पंप आपरेटर राहुल सिंह सेंगर, सोनू सिंह, कमलकांत, सोबरन सिंह, जगदीश, रोमी, पवन कुशवाहा, जीतू, प्रमोद, चंद्रभान, रामरतन सिंह, अतुल, मनीष श्रीवास्तव, प्रेमकिशोर, विजय सिंह, विनोद कुमार, मोहम्मद इरफान, इमरान अंसारी,अब्दुल वकार, अशफाक शाह, रोहित वर्मा इकाई जालौन, धरम सिंह माधौगढ़ आदि मौजूद रहे।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126