पत्रकारों की सुरक्षा के लिए बने सख्त कानून-आपवा

पत्रकारों की हो रही हत्याओं व उत्पीड़न को लेकर आपवा ने राष्ट्पति को भेजा ज्ञापन
पत्रकारों के पीड़ित परिवार को मुआवजे की मांग

उरई (जालौन)। पत्रकारों की सुरक्षा को लेकर प्रदेश ही नहीं बल्कि पूरे देश में हमेशा से ही सवाल खड़े होते रहे हैं। कई मौकों पर पत्रकारों के साथ अभद्र व्यवहार की घटनाएं सामने आती है। हाल ही में भूमाफिया के कारनामे को उजागर करने वाले पत्रकार की उन्नाव में हत्या कर दी गई थी। वहीं तीन दिन पूर्व गाजियाबाद में एक पत्रकार की गोली मारकर हत्या कर दी गई। प्रदेश में पत्रकारों की हो रही हत्याओं व उत्पीड़न को लेकर आदर्श पत्रकार वैलफेयर एसोशियेशन ने बुधवार को राष्ट्रपति को सम्बोधित एक ज्ञापन जिलाधिकारी को सौपा है। जिसमे उन्होंने पत्रकारों की सुरक्षा के लिए कड़ा कानून बनाए जाने की मांग की है।
विदित हो कि बीते सोमवार को गाज़ियाबाद में दिनदहाड़े पत्रकार विक्रम जोशी की गोली मारकर हत्या कर दी गई। वहीं उन्नाव में भी पत्रकार शुभम मणि त्रिपाठी की गोली मारकर हत्या कर दी गई थी। पत्रकारों पर लगातार हो रहे हमले को लेकर आदर्श पत्रकार वेलफेयर एसोसिएशन के बुंदेलखंड जोनल प्रभारी विशाल वर्मा के नेतृत्व में जिलाध्यक्ष नितिन यागिक ने जिलाधिकारी डॉ मन्नान अख्तर को राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन सौंपते हुए कड़ी निंदा की। दिए गए ज्ञापन में उन्होंने मृतक पत्रकारों के परिजनों को 25-25 लाख रुपए के मुआवजे व हत्यारों को शीघ्र गिरफ्तार करने की मांग की। वहीं उन्होंने पत्रकारों की सुरक्षा के लिए पत्रकार सुरक्षा कानून बनाए जाने को लेकर राष्ट्रपति से केंद्र सरकार को निर्देशित किये जाने की मांग की है। जोनल असिस्टेंट मयंक गुप्ता ने कहा कि पत्रकारों पर लगातार हो रहें हमले निंदनीय हैं। सरकार को इसपर कानून बनाना चाहिए। इस दौरान गोविंद दाऊ, हेमन्त सिंह, वरुण द्विवेदी,देवेन्द्र सिंह जादौन दाऊ, महावीर यागिक, शत्रुघ्न सिंह, विकास गुप्ता, विक्की परिहार, रविन्द्र गौतम, रामजीवन यागिक, प्रदीप महतवानी, सुरेंद्र राजावत, सुधीर राणा, मयंक सैनी, वसीम खान, नसीम सिद्दिकी, शिराज, अफरोज शेख,सुधीर राणा,सुशील पांडेय आदि मौजूद रहे।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126