पालिका प्रशासन के लिये चुनौती बनते जा रहे रिहायशी बस्तियों के खाली प्लाट

शिकायतों पर आश्वासन देते अधिशाषी अधिकारी नगर पालिका संजय कुमार

कचरें के ढे़रों में तब्दील हुये सैकडो प्लाट आये दिन हो रहे झगडें

मामलों बढती संख्या से परेशान इओं ने दी चेतावनी

उरई(जालौन)। विकास प्राधिकरण का दर्जा हासिल होने के बाद भी नगर में समस्याये कम होने का नाम नही ले रही। इन दिनों नगर पालिका प्रशासन के लिये नगर की विभिन्न बस्तियों में खाली पडे भूखंड किसी बड़ी सांमत से कम नही। जिम्मेदार अधिकारियों की माने तो कोई भी दिन ऐसा नही होता कि जिस दिन खाली प्लाटों में कचरा फैके जाने की शिकायतें न आती हो। यही नही मामलें तब गंभीर हो जाते हे जब लड़ाई झगडे़ के हालात बन जाते है। बहरहाल अधिशाषी अधिकारी ने अब इस समस्या से निजात के लिये लोगो को चेताने का मन बना लिया है।
गौरतलब हो कि नगर की अधिकांश रिहायशी बस्तियों में जगह जगह ऐसे खाली प्लाट पड़े हुये है जहां उनके स्वामियों ने अब तक भवन निर्माण नही कराया है। जिसके चलते बस्तियों के बासिंदो ने उपेक्षित पड़े उन प्लाटों में कचरा डालना शुरू कर दिया है। जिससे उन प्लाटों के आस पास गंदगी और र्दुगंध लोगो की परेशानी की वजह बनने लगी है। हालाकि पालिका प्रशासन की माने तो उन्होने समुचित शहर की सफाई व्यवस्था के लिये सफाई कर्मी ट्रैक्टर ट्राली, स्वीपर आदि कई प्रबंध किये है। लेकिन लोग अपनी करतूतों को फिर भी अंजाम दे रहे है। अधिशाषी अधिकारी संजय कुमार ने साफ तौर पर चेतावनी देते हुये बताया कि ऐसे लोगो के खिलाफ कार्यवाही करायी जायेगी जो जगह जगह कचरा फैलाते है और दूसरों के खाली प्लाटों में कचरा डालकर अन्य लोगो के लिये समस्यायें बन रहे है। उन्होने बताया कि सार्वजनिक स्थानों पर कचरा फैकना प्रतिबंधित है इसके लिये जुर्माना भी भरना पड़ सकता है। यदि लोग नही मानते और उनकी शिकायत मिलती है तो जुर्माने की कार्यवाही करायी जायेगी।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126