पुत्र ही निकला अपने पिता का कातिल, जानें क्यों की थी हत्या

बांदा : जिले में 14 अक्टूबर को अनाज गोदाम में वृद्ध की हत्या किए जाने के मामले का मंगलवार को पुलिस ने खुलासा कर दिया. पुलिस ने बताया कि जमीन की लालच में वृद्ध के बेटे ने ही उसकी गला दबाकर हत्या कर दी थी. मृतक अपने बेटे से बहुत प्रताड़ित था, जिसके चलते वह अपनी जमीन पौत्र को लिखना चाहता था. इसी के चलते उसके बेटे ने ही उसकी गला घोंटकर हत्या कर दी थी. पुलिस ने हत्यारे पुत्र को गिरफ्तार कर जेल भेज दिया गया है.
अनाज के गोदाम में पड़ा मिला था शव
बता दें कि 14 अक्टूबर के अतर्रा थाना क्षेत्र के खामौरा गांव के पास अनिल सोनी नाम के एक अनाज व्यापारी के गोदाम में चौकीदार काशी प्रसाद कुशवाहा का बिस्तर पर शव पड़ा मिला था, जिसकी सोते समय हत्या कर दी गई थी. इस मामले की जांच पुलिस कर रही थी. पुलिस की जांच में पता चला कि मृतक के बेटे ने ही जमीन के विवाद में हत्या की थी. मंगलवार को पुलिस ने मृतक काशी प्रसाद कुशवाहा के बेटे विजय बहादुर कुशवाहा को उसके पिता की हत्या के जुर्म में गिरफ्तार कर जेल भेज दिया.
जमीन विवाद के चलते की थी बेटे ने हत्या
अपर पुलिस अधीक्षक महेंद्र प्रताप चौहान ने बताया कि अतर्रा थाना क्षेत्र के खामौरा गांव में अनिल सोनी के अनाज गोदाम में काशी प्रसाद कुशवाहा चौकीदारी का काम करते थे. इनकी 13 अक्टूबर की रात में जनेऊ से गला घोंटकर हत्या कर दी गई थी. इस मामले में मृतक की पत्नी ने हत्या का मुकदमा दर्ज कराया था. पुलिस के साक्ष्य संकलन के दौरान इस घटना में कड़ी से कड़ी जोड़ते हुए पता चला कि मृतक का बेटा विजय बहादुर कुशवाहा ने ही वारदात को अंजाम दिया है
मृतक पौत्र के नाम लिखना चाहता था पूरी जमीन
एसपी ने बताया कि मृतक काशी प्रसाद कुशवाहा अपने बेटे विजय बहादुर से काफी दिनों से प्रताड़ित चल रहे थे. जिसको लेकर वो अपनी पूरी जमीन विजय बहादुर के बेटे राहुल कुशवाहा के नाम लिखना चाहता थे. आरोपी के पांच बेटे हैं और उसको लग रहा था कि यदि जमीन एक लड़के के नाम हो जाएगी तो बाकी लोग भूखे मरने लगेंगे. जिसके चलते उसने अपने पिता की हत्या कर दी थी.
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126