पुराने प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर लगा गंदगी का अंबार संचारी रोगों को दे रहे न्योता

उरई (जालौन)। विकासखंड रामपुरा के प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र पर  लगा गंदगी का अंबार जहां पर बीमारियों को दे रहे न्योता। आपको अवगत कराते चलें कि कोरोना संक्रमण व संचारी रोगों की रोकथाम के लिए चलाए जा रहे अभियान के बीच जागरूक करने वाले लोग खुद ही गंदगी के बीच रहने को विवश हैं। पुराने अस्पताल के अंदर चारों तरफ बजबजाती नालियां, गंदा पानी और कूड़े का ढेर नजर आता है। गंदगी खुलेआम बीमारियों को निमंत्रण दे रही हैं। अस्पतालों में डीडीटी का छिड़काव व ब्लीचिग पाउडर के अलावा फॉगिग किए जाने का जोरों से दावा किया जा रहा है, लेकिन इसी के विपरीत नगर का पुराना सरकारी अस्पताल जमीनी हकीकत बयां करने को काफी है। यहां बाल विकास परियोजना, पशु अस्पताल तथा ब्लॉक के कार्यालय भी संचालित होते हैं। उसके बाद भी चारों तरफ केवल गंदगी ही गंदगी नजर आती है। स्थिति यह है कि कब यहां के लोग संक्रामक बीमारियों की चपेट में आ जाएं, कुछ कहा नहीं जा सकता है। नालियां बजबजा रही हैं, जिनकी सफाई महीनों से नहीं की गई है। गंदे पानी में कीड़े तैरते दिखते हैं। यहां पर स्वच्छता अभियान बेअसर दिख रहा है।
जिम्मेदार लोगों के हैं आवास
सीडीपीओ कार्यालय का संचालन तो होता ही है। इसके अलावा प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक, चिकित्सा अधिकारी, डेंटल डॉक्टर तथा कई एएनएम भी यहीं निवास करते हैं। साफ सफाई न होने से यहां के लोगों के अलावा बाहर से आने वाली आंगनबाड़ी कार्यकत्री को भी संक्रमण का खतरा बन गया है।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126