फसल बीमा आदि को लेकर डीएम ने ली अधिकारियों की बैठक

उरई (जालौन) प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना एवं पुर्नगठित मौसम आधारित फसल बीमा योजना के अन्तर्गत किसानों की भागीदारी करने विषयक जनपद स्तर पर योजना के समयबद्व एवं सफल क्रियान्वयन निश्चित करने हेतु जिलाधिकारी डाॅ. मन्नान अख्तर की अध्यक्षता में विकास भवन सभागार में बैठक सम्पन्न हुयी। बैठक में पिछली बैठक में दिये गये निर्देशों के संबंध में चर्चा की गयी तथा उसका कितना अनुपालन किया गया इसके संबंध में भी जानकारी की गयी। जिस पर जिलाधिकारी द्वारा एलडीएम को निर्देशित किया कि जो भी निर्देश दिये गये है उसका अनुपालन तत्काल सुनिश्चित किया जाये। बैठक में उपनिदेशक कृषि द्वारा प्रधानमंत्री फसल बीमा योजना के अन्तर्गत 31 जुलाई तक प्रीमियम बैंकों द्वारा कृषकों के खाते से काटा जायेगा ऐसे कृषक जो बीमा नही कटवाना चाहते है, उन्हे 24 जुलाई तक बैंकों को लिखित में अवगत कराना पड़ेगा कि मेरा बीमा का प्रीमियम न काटा जाये। मुख्य विकास अधिकारी द्वारा सुझाव दिया गया कि बैंकों द्वारा कृषकों के खाते से उसी फसल का प्रीमियम काटा जाये जो फसल कृषकों द्वारा बोयी गयी है, उसके लिये बैंक कर्मचारी कृषक से सम्पर्क स्थापित कर ले, विगत वित्तीय वर्ष में सर्वे के दौरान प्रायः यह पाया गया कि कृषक ने मौके पर मटर बोयी है और उसका प्रीमियम गेहूं का काटा गया है, ऐसे में कृषक बीमा क्लेम से वंचित रह जाता हैं। बैंकों द्वारा कृषकों के खाते से जो भी प्रीमियम काटा गया, उसे यथाशीघ्र भारत सरकार के पोर्टल पर फीड करेगे एवं प्रीमियम राशि 10 दिन के अन्दर बीमा कम्पनी को भेजेगे। प्रधानमंत्री किसान सम्मान योजना के अन्तर्गत 25340 कृषकों के केसीसी जारी कराने का लक्ष्य था जिसके सापेक्ष 22601 फार्म रिजेक्ट किये गये है, अवशेष कृषकों के केसीसी जारी किये जाये। जिलाधिकारी महोदय द्वारा जिला प्रबन्धक अग्रणी बैंक को निर्देशित किया गया कि बैंकवार प्रगति बनायी जाये एवं 11342 फार्म रिजेक्ट किये गये है, किस कारण किये गये है उनका पुनः परीक्षण किया जाये। उन्होने बताया कि जनपद में खरीफ में 57494.00 लाख रूपये ऋण वितरण के सापेक्ष 1176.00 लाख रूपये का ऋण वितरित किया गया है जो काफी कम है, खरीफ की बुबाई प्रारम्भ हो गयी है अतः ऋण वितरण का कार्य तेजी से किया जाये। बैठक में मुख्य विकास अधिकारी प्रशान्त कुमार श्रीवास्तव, उपनिदेशक कृषि आरके तिवारी, एलडीएम, जिला कृषि अधिकारी अमर सिंह, जिला उद्यान अधिकारी रोजश कुमार वर्मा सहित संबंधित अधिकारी एवं बैंकर्स उपस्थित रहे।