बहन का शव विसर्जन करने जा रहे दो भाई गंगा में डूबे

फर्रुखाबाद: जिले में शनिवार को चाचा की पुत्री का अंतिम संस्कार करने जा रहे दो सगे भाई गंगा में नाव पलटने से डूब गये. सूचना मिलने के बाद तहसीलदार मौके पर पहुंचे और ग्रामीणों की मदद से तलाश शुरू की, लेकिन लंबे समय के बाद भी उनका कुछ पता नहीं चला. गंगा में तलाशी अभियान जारी है.

थाना मऊदरवाजा क्षेत्र के हंसिनगला निवासी हरेन्द्र (28 साल) और उसका भाई 26 वर्षीय वीरेंद्र अपने चाचा रामनिवास की 18 वर्षीय बेटी लक्ष्मी की मौत हो जाने पर उसका अंतिम संस्कार करने कुबेरपुर घाट गये थे. शव का भू-विसर्जन करना था, जिसके लिए नाव पर शव रखकर आधा दर्जन से अधिक लोग दूसरी ओर जाने के लिए सवार हुए. जैसे ही नाव बीच धार में पहुंची, तो गंगा के तेज बहाव के कारण नाव अनियंत्रित होकर पलट गयी. नाव पलटने से उसके ऊपर बैठे सभी लोग गंगा में डूब गये. सभी लोगों को सकुशल बचा लिया गया, जबकि हरेन्द्र और वीरेंद्र का पता नहीं चला.

दोनों भाइयों के डूबने की खबर से ग्रामीणों में कोहराम मच गया. घाट पर सैकड़ों की संख्या में ग्रामीणों की भीड़ एकत्रित हो गयी. घटना का पता चलते ही तहसीलदार राजू कुमार मौके पर पहुंचे. स्थानीय लोग गोताखोर की मदद से दोनों भाइयों को तलाश करने में लगे हैं. तहसीलदार राजू कुमार ने बताया कि दोनों की गंगा में तलाश करने का प्रयास चल रहा है, जल्द ही उन्हें खोज लिया जायेगा.
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126