बिकरू कांड: SIT रिपोर्ट के बाद सीएम ने डीआईजी अनंत देव को किया सस्पेंड

लखनऊ: प्रदेश भर के बहुचर्चित कानपुर बिकरू कांड की जांच के लिए अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी की अगुवाई में 3 सदस्यीय एसआईटी टीम गठित की गई थी. एसआईटी ने सभी बिंदुओं पर जांच करने के बाद 3200 पन्नों की रिपोर्ट शासन को प्रेषित की थी. गुरुवार को इस मामले में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बड़ी कार्रवाई की है. कानपुर में एसएसपी रहे अनंत देव तिवारी को मुख्यमंत्री ने सस्पेंड कर दिया है. वह वर्तमान में मुरादाबाद पीएसी में डीआईजी के पद पर कार्यरत थे. इसके साथ ही एसएसपी दिनेश पी को भी नोटिस दी गई है. वहीं एसआईटी की रिपोर्ट पर कई अन्य और अधिकारियों पर जल्द कार्रवाई हो सकती है, क्योंकि अपनी रिपोर्ट में एसआईटी ने 60 पुलिसकर्मियों पर कार्रवाई की सिफारिश की थी. बता दें बीते 2 जुलाई को हुए कानपुर बिकरू गांव में विकास दुबे ने सीओ देवेंद्र मिश्र समेत आठ पुलिसकर्मियों की बेरहमी से हत्या कर दी थी, जिसके बाद विकास दुबे को भी यूपी पुलिस ने एनकाउंटर में मार गिराया था.
एसआईटी की रिपोर्ट पर डीआईजी अनंत देव हुए सस्पेंड
कानपुर के बिकरू कांड में एसआईटी की रिपोर्ट आने के बाद मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ द्वारा की गई कार्रवाई की गाज डीआईजी अनंत देव पर गिरी है. वहीं एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में अनंत देव को इस घटना के लिए दोषी ठहराया था. एसआईटी ने पिछले हफ्ते ही 3200 पन्नों की रिपोर्ट शासन को सौंपी थी, जिसमें कुल 60 पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों पर कार्रवाई की सिफारिश की थी. एसआईटी रिपोर्ट आने के बाद गुरुवार को मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने अनंत देव को जहां एक ओर निलंबित किया है, तो वहीं एसएसपी दिनेश पी को भी नोटिस जारी किया गया है.
3 सदस्यीय एसआईटी टीम ने की थी बिकरू कांड की जांच
2 जुलाई को कानपुर के बिकरू गांव में विकास दुबे ने अपने साथियों के साथ मिलकर सीओ देवेंद्र मिश्र समेत आठ पुलिसकर्मियों की दुर्दांत तरीके से हत्या कर दी थी. इस घटना को लेकर 11 जुलाई को शासन ने अपर मुख्य सचिव संजय भूसरेड्डी की अध्यक्षता में 3 सदस्य एसआईटी टीम का गठन किया था. एसआईटी में एडीजी एचआर शर्मा और आईजी जे रविंद्र गौड़ भी सदस्य थे. एसआईटी ने रिपोर्ट में विकास दुबे के पुलिस व राजस्व और आबकारी अधिकारियों से सांठगांठ की रिपोर्ट सौंपी थी, जिसके बाद मुख्यमंत्री द्वारा यह कार्रवाई की गई है.
कानपुर में एसएसपी रहे अनंत देव पर लगे थे आरोप
2 जुलाई को बिकरू कांड की घटना हुई थी. वहीं उससे पहले ही चौबेपुर थाने के पुलिसकर्मियों की विकास दुबे से सांठगांठ को लेकर सीओ देवेंद्र मिश्र ने एसएसपी से शिकायत की थी, जिसका ऑडियो भी वायरल हुआ था. वहीं एसआईटी ने अपनी रिपोर्ट में भी अनंत देव को इस घटना के लिए दोषी माना था, जिसको लेकर गुरुवार को मुख्यमंत्री ने सबसे पहले डीआईजी के पद पर कार्यरत अनंत देव को निलंबित करने की कार्रवाई की है.
…और अधिकारियों पर जल्द गिर सकती है गाज
एसआईटी ने कानपुर की बिकरू कांड को लेकर अपनी रिपोर्ट में 60 पुलिस और प्रशासन के अधिकारियों को दोषी माना था और इन पर कार्रवाई की सिफारिश की थी. वहीं गुरुवार को डीआईजी अनंत देव पर कार्रवाई करने के साथ ही तत्कालीन एसएसपी रहे दिनेश पी को नोटिस जारी किया गया है. इस कार्रवाई के बाद माना जा रहा है कि बिकरू कांड के दोषी कई और पुलिस प्रशासन के अधिकारियों पर मुख्यमंत्री कार्रवाई का चाबुक चला सकते हैं.
संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.
सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126