भगवान राम का भव्य मंदिर बनाने का मामला

वर्तमान रामलला जन्मभूमि मंदिर

वर्तमान रामलला जन्मभूमि मंदिर

3 या 5 अगस्त को अयोध्या में प्रधानमंत्री कर सकते हैं भूमिपूजन
श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की दूसरी बैठक सम्पन्न
नृत्य गोपालदास ने प्रधानमंत्री से किया है शिलान्यास का आग्रह
10 करोड़ परिवारों से मंदिर के लिए सहयोग का संपर्क अभियान चलेगा
शुरू होने के तीन वर्ष बाद बन जायेगा श्री राम का भव्य मंदिर
161 फ़ीट होगी मंदिर की ऊंचाई
मंदिर के ऊपर अब 3 नहीं 5 गुम्बद बनाये जाएंगे

अनिल शर्मा+संजय श्रीवास्तव+डॉ. राकेश द्विवेदी

अयोध्या: श्री राम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र ट्रस्ट की दूसरी बैठक में लिए गए निर्णयों की जानकारी देते हुए ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय का बयान।

लार्सन एंड टर्बो कर रही मिट्टी की जांच के लिए सैंपल इकट्ठा। जमीन के नीचे 60 मीटर तक की मजबूती का सर्वे करके ही मंदिर की नींव डाली जाएगी। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने बताया कि मीटिंग में तय हुआ है कि मंदिर के लिए टाइल्स सोमपुरा मार्बल ब्रिक्स की ओर से दिया जाएगा। लार्सन एंड टर्बो अपना काम करेगा और टाइल्स का काम सोमपुरा मार्बल्स करेगा। ये दोनों कंपनियां मिलकर भव्य और विशाल भगवान श्री राम के मंदिर का निर्माण करेंगे। श्री राय के अनुसार नृत्य गोपालदास जी ने प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी से स्वयं आकर मंदिर का भूमिपूजन एवम शिलान्यास करने का आग्रह किया है। ट्रस्ट की बैठक में 29 जुलाई या 5 अगस्त को भूमिपूजन कराए जाने पर भी चर्चा हुई। मगर समझा जाता है कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी 3 या 5 अगस्त को अयोध्या में भूमिपूजन करेंगे। मगर इस पर अंतिम फैसला प्रधानमंत्री ही करेंगे। कोरोना महामारी के संकट और बरसात के उपरांत 10 करोड़ परिवारों से मंदिर निर्माण में सहयोग के लिए संपर्क अभियान चलाया जाएगा। ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय ने जानकारी दी कि जमीन के समतलीकरण का काम लगभग पूरा हो गया है।

समस्त भक्तों की दुआओं के चलते लंबी कानूनी लड़ाई में जीत हासिल करने के बाद भगवान श्री राम के भव्य मंदिर निर्माण का मार्ग प्रशस्त हो गया है। मंदिर के शिलान्यास होने से 3 वर्ष की अवधि में मंदिर का निर्माण कार्य पूर्ण होने का अनुमान है। मंदिर पूर्ण हो जाने पर मर्यादा पुरुषोत्तम भगवान राम बल्लियों के कठघरे से मुक्ति पाकर भव्य मंदिर में बने अपने आसन पर विराजमान हो जाएंगे।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126