महिलाओं को आत्मनिर्भर बनाने के लिए सहायता समूह से जुड़ना आवश्यक-गौरीशंकर

उरई(जालौन)। महिलाओ को सशक्त और आत्मनिर्भर बनने के लिए स्वयं सहायता समूह से जुड़ना आवश्यक है उपरोक्त विचार माटी कला बोर्ड उत्तर प्रदेश सरकार के अध्यक्ष एवम् राज्य मंत्री धर्मवीर प्रजापति ने झांसी रोड स्थित रघुवीर धाम उरई में दीन दयाल अंत्योदय राष्ट्रीय शहरी आजीवका मिशन के उप घटक सामाजिक गतिशीलता एवम् संस्थागत विकास के अंतर्गत अनुरागिनी संस्था द्वारा उरई नगरीय क्षेत्र में गठित स्वयं सहायता समूहों के सदस्यों का दो दिवसीय प्रशिक्षण कार्यक्रम में उद्धघाटन अवसर पर व्यक्त किए उन्होंने कहा कि दीवाली में लक्ष्मी गणेश की मूर्ति बनाकर समूह की महिलाए अपनी आय बढ़ा सकती उरई सदर विधायक गौरी शंकर वर्मा ने कहा कि समूह की सभी महिला सदस्यों को केन्द्र एवम् राज्य सरकार की योजनाओं से जोड़ने का प्रयास किया जायेगा जिससे उनका लाभ मिल सके कोंच क्षेत्र के विधायक मूलचंद्र निरंजन ने कहा कि महिला समूहों द्वारा बनाए गए सभी उत्पादों की बिक्री हेतु सभी सहयोग करे जिससे उनकी मार्केटिंग स्थानीय स्तर पर ही हो सकेअध्यक्ष डॉ प्रवीण सिंह जादौन ने बताया कि उरई नगर में 60 स्वयं सहायता समूहों का संचालन किया जा रहा है एवम् दो एरिया लेवल फेडरेशन का भी गठन है जिससे सभी समूहों को उसका लाभ मिल सके सहकार भारती की राष्ट्रीय कार्यकारिणी की सदस्य विनीता पांडेय ने महिलाओ को छोटे छोटे उत्पादों के बारे में जानकारी दी जिससे वह आसानी से निर्मित कर सके कार्यक्रम में अतिथियों ने महिलाओ को निशुल्क सिलाई का प्रशि क्षण दे रही सेवा भारती फेडरेशन की अध्यक्ष सविता विश्कर्मा को सिलाई मशीन अनुरागिनी संस्था द्वारा उपलब्ध कराई उद्घाटन कार्यक्रम में विश्व हिन्दू महासंघ के जिला प्रभारी ओमकार सिंह सेंगर प्रतिनिधि प्रशांत तिवारी सहकार भारती के जिला अध्यक्ष उपेन्द्र सिंह राजावत, जितेंद्र पांडेय, श्याम, करन प्रजापति, रामकिशोर, पवन तोमर, समर सिंह चौहान, सुरजीत सिंह, अरुण कुमार प्रजापति, उमेश तिवारी, सत्यम मिश्रा, रवीन्द्र सिंह, आदर्श सोनकिया, उपस्थित रहे। कार्यक्रम का संचाल न राष्ट्रीय ग्रामीण आजीविका मिशन जालौन केडी आरपी राम कुमार सिंह ने किया। प्रशिक्षण में पांच समूह की 45 महिला सदस्यों ने प्रतिभाग किया।

संजय श्रीवास्तव-प्रधानसम्पादक एवम स्वत्वाधिकारी, अनिल शर्मा- निदेशक, डॉ. राकेश द्विवेदी- सम्पादक, शिवम श्रीवास्तव- जी.एम.

सुझाव एवम शिकायत- प्रधानसम्पादक 9415055318(W), 8887963126