महिला ने तीन वर्ष के बच्चे का किया अपहरण और बोली तेरे बच्चे की मुंडी तेरे घर भेज दूंगी

संजीत यादव अपहरण और हत्या के बाद बर्रा में महिला किडनैपर ने मासूम बच्चे का अपहरण कर मचा दी सनसनी

कानपुर: महिला ने बच्चे की मां को धमकी देते हुआ कहा कि मेरा पति घर आएगा या फिर तेरे बच्चे की मुंडी घर आएगी। पीड़ित महिला ने इसकी शिकायत पुलिस से की। पुलिस ने बच्चे को महिला के चुंगल से छुड़ा लिया और महिला को गिरफ्तार कर जेल भेजा है।

बर्रा थाना क्षेत्र स्थित कर्रही में रहने वाले दुर्गेश सोनी एक स्वीट हाउस में काम करते हैं। परिवार में पत्नी शिवानी सोनी और तीन वर्षीय बेटे मृत्युंजय के साथ रहते हैं। बीते 28 जुलाई की रात शिवानी घर पर काम में व्यस्त थी और तीन साल का बेटा कमरे में अकेले खेल रहा था। तभी अचानक मृत्युजंय कमरे से गायब हो गया। शिवानी ने कमरे में बेटे को नहीं पाया तो उसकी तलाश शुरू की। परिजन देररात तक बच्चे की तलाश करते रहे, लेकिन बच्चा नहीं मिला।

शिवानी के घर के पास ही एक मंशा गुप्ता नाम की महिला रहती है। मंशा गुप्ता 28 जुलाई रात शिवानी के घर गई थी, मंशा ने देखा कि शिवानी और उसका पति घर पर नहीं है तो उसने बच्चे को और घर पर रखे मोबाइल को उठाकर ले गई।

बीते 29 जुलाई को मंशा ने बच्चे की मां को फोन किया और कहा कि मेरा पति घर आएगा या फिर तेरे बच्चे की मुंडी तेरे घर आएगी। इस धमकी के बाद शिवानी ने बर्रा पुलिस को घटना की जानकारी दी।

मंशा पति पर शक करती थी

मंशा गुप्ता की पहली शादी सूरज नाम के व्यक्ति से हुई थी। मंशा ने पहले पति को छोड़ने के बाद उसकी दोस्ती प्रहलाद से हो गई, और प्रहलाद के साथ रहने लगी थी।

मंशा प्रहलाद को दूसरा पति मानती है। मंशा अपने पति प्रहलाद पर शक करती थी, उसे शक था कि प्रहलाद चोरी छिपकर शिवानी से मिलता है।

क्या कहना है मंशा का

मंशा ने पुलिस को बताया कि मेरा प्रहलाद से झगड़ा हुआ था, प्रहलाद ने मुझे पीटा था और मेरा मोबाइल लेकर चला गया था। मुझे शक था कि प्रहलाद शिवानी के घर गया होगा, मैं अपने पति की तलाश में शिवानी के घर पहुंची तो वहां पर मुझे शिवानी नहीं मिली और नहीं मेरा पति मिला। इसके बाद मैं शिवानी के बेटे मृत्युंजय और घर पर रखे मोबाइल फोन को उठाकर भाग गई थी।

क्या कहना है एसपी साउथ का

एसपी साउथ बीबीजीटीएस मूर्ति के मुताबिक शिवानी ने बच्चे के अपहरण की केस बर्रा में दर्ज कराया था। बच्चे की बरामदगी के लिए टीम का गठन किया था, और सर्विलांस की भी मदद ली गई थी।

महिला की पहली लोकेशन उन्नाव की मिली थी और दूसरी लोकेशन राय बरेली की। पुलिस ने दोनों ही जगह पर दबिश दी, लेकिन महिला फरार हो गई। गुरुवार सुबह महिला कहीं भागने के प्रयास में थी, लेकिन हमारी टीम ने उसे दामोदर नगर नहरिया के पास से गिरफ्तार कर लिया गया। प्रतिवादी मंशा गुप्ता पति पर शक करती थी।